जेएनएन, शाहजहांपुर : बेसहारा गोवंशीय पशुओं की दुर्दशा व कुप्रबंधन से बदहाल गोशालाओं को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।

कलान क्षेत्र की गोवंश विहीन नयागांव मुबारकपुर गोशाला मामले में मुख्य विकास अधिकारी ने सीवीओ से स्पष्टीकरण मांगा है। बीडीओ व एसडीएम को गोशाला में पशु पहुंचाने के निर्देश दिए गए। रविवार को अपराह्न यहां कुछ गाय भी बांध दी गई। इधर, निगोही क्षेत्र के रटा गोआश्रम केंद्र पर खुद मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. आरबी सिंह टीम के साथ पहुंचे। उन्होंने गायों की गिनती कराकर संख्या पूरी कराई। चारा पानी की समस्या दूर करने के भी दिशा निर्देश दिए। डीएम व सीडीओ की फटकार के बाद आबाद हुई कटरी की गोशाला

कलान क्षेत्र की नयागांव मुबारकपुर गोशाला में कागजों पर 50 गायें पल रही थीं। लेकिन 23 सितंबर को जागरण टीम को गोशाला में गाय नही मिली। बल्कि वहां चन्नी पर बच्चे खेल रहे थे। जागरण ने 24 सितंबर के अंक में सड़कों पर गोवंश, जिम्मेदार डकार रहे गोशाला का बजट शीर्षक से खबर छापी थी। डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने खबर पर सीवीओ डा. आरबी सिंह की क्लास ली। मुख्य विकास अधिकारी श्याम बहादुर सिंह ने मामले में सीवीओ से स्पष्टीकरण मांगा। साथ ही कलान बीडीओ व एसडीएम को गोशाला में गोवंशीय पशुओं को पहुंचाने के निर्देश दिए। 25 सितंबर को रटा गोआश्रय केंद्र की दुर्दशा की ओर प्रशासन का ध्यान खींचा गया। कागजों पर 50, गोशाला में 45 गायों का हो रहा संरक्षण शीर्षक से खबर प्रकाशित की गई। इसके बाद जिम्मेदार हरकत में आए। सीवीओ ने टीम के साथ रटा गोशाला का निरीक्षण किया। पानी के लिए सही कराया इंजन, जंगल से पकड़वाकर पूरी की गायों की संख्या

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. आरबी सिंह ने पशुधन प्रसार अधिकारी सुधीर वर्मा, फार्मासिस्ट प्रवीण सक्सेना के साथ रविवार को अपराह्न रटा गोआश्रय केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने जंगल से गायों को पकड़वाकर संख्या पूरी कराई। दो गायों का उपचार भी किया गया। सीवीओ ने गायों के टैग चेक किए। इस दौरान उन्होंने ग्राम प्रधान जगपाल सक्सेना को पास में वन विभाग की जमीन पशुओं के लिए चारा बुवाई के लिए कहा। भरोसा दिलाया कि गायों के भरण पोषण के लिए समय से धनराशि मुहैया कराई जाएगी। सीवीओ ने गोशाला में ही जलापूर्ति के लिए सबमर्सिबल लगवाने का भी भरोसा दिलाया। इस अवसर पर गोपालक राकेश कुमार, लालाराम आदि मौजूद रहे। गोशालाओं के कुप्रबंधन बेसहारा गायों के बदहाल स्थिति में बारे में सीवीओ से स्पष्टीकरण मांगा गया है। बीडीओ व एसडीएम को गोशाला निरीक्षण कर गोवंशीय पशुओं के संरक्षण के निर्देश दिए गए हैं। खुद भी निरीक्षण का कार्यक्रम बनाया है।

श्याम बहादुर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी

Edited By: Jagran