जेएनएन, शाहजहांपुर : चीनी मिलों में नया पेराई सत्र तो शुरू हो गया, लेकिन पुरानी देनदारी अब तक नहीं चुकाई। तीन मिलों पर लगभग सवा अरब का भुगतान बकाया है, जिसमें सबसे अधिक 80 करोड़ मकसूदापुर चीनी मिल को देना है। अधिकारियों का दावा है कि जल्द से जल्द इसे करा दिया जाएगा। जिले में पांच चीनी मिलें हैं, जिनमें पुवायां व तिलहर में सहकारी मिल हैं। जबकि रोजा, निगोही व बंडा के मकसूदापुर में निजी चीनी मिलों का संचालन हो रहा है। इन पांचों मिलों में पेराई सत्र शुरू हो गया है। इस बार गन्ने की अर्ली वैरायटी का रेट 350, सामान्य 340 व रिजेक्ट का 330 रुपये निर्धारित किया गया है। नये सत्र में स्थिति :

- 12 नवंबर तक 15 लाख क्विंटल गन्ने की हो चुकी है खरीद

- 21.80 करोड़ का किया जा चुका है दो चीनी मिलों से भुगतान

- 3.18 करोड़ रुपये रोजा चीनी मिल ने 1719 किसानों को दिए

- 18.64 करोड़ रुपये निगोही मिल ने 9403 किसानों को किया भुगतान मिलों पर पिछला बकाया

- 27.16 करोड़ रुपये तिलहर चीनी मिल पर बकाया

- 80 करोड़ रुपये मकसूदापुर चीनी मिल पर शेष

- 16.79 करोड़ रुपये पुवायां मिल को करना भुगतान कहां कितने केंद्र

- 180 क्रय केंद्र खोले गए हैं इस बार

- 46 रोजा, 2 पुवायां, 24 तिलहर में

- 52 निगोही, 5 अजवापुर, 3 फरीदपुर के

- 10 केंद्र लोनी व 3 रूपापुर मिल के खुले हैं स्थापित किया इन्क्वायरी टर्मिनल

जिला गन्नाधिकारी डा. खुशीराम ने बताया कि किसानों की सुविधा के लिये सभी चीनी मिलों, सहकारी गन्ना विकास समितियों ने इन्क्यवारी टर्मिनल स्थापित किया है। किसान किसी भी कार्य दिवस में यहां गन्ना पर्ची, कैलेंडर, बेसिक कोटा आदि की जानकारी ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसान अपने मोबाइल का इनबाक्स खाली रखें। ताकि उन्हें एसएमएस पर्ची आसानी से मिल सके। तौल कराने के लिए एसएमएस, मोबाइल व एक आइडी साथ ले जाएं। टोल फ्री नंबर पर करें शिकायत

गन्नाधिकारी ने बताया कि क्रय केंद्रों पर हैंड हेल्ड कंप्यूटर से तौल हो रही है। इसलिए उन केंद्रों पर कंप्यूटर से जारी तौल पर्ची किसानों को उपलब्ध करायी जाएगी। जिस पर किसानों का पूरा विवरण, तौल की तारीख, गन्ना ट्राली का वजन, गन्ना मूल्य आदि अंकित होगा। किसी भी असुविधा पर किसान गन्ना आयुक्त के टोल फ्री नंबर 1800-121-3203 पर संपर्क कर सकते हैं।

Edited By: Jagran