जेएनएन, शाहजहांपुर : आसमान में छाए बादल रविवार को फुहार बन बरसे। शाम तीन बजे के करीब हल्की फुहार के साथ शुरू बारिश शाम तक आठ बजे तक तीन मिमी का आंकड़ा पार कर गई। इससे मौसम खुशगवार हो गया। मौसम विज्ञानियों ने 20 मिमी तक 42 मिमी तक बारिश की संभावना जताई है। तापमान बढ़ा, वायुदाब गिरा

तापमान में वृद्धि व वायुदाब में गिरावट से करीब 14 घंटे पहले बारिश हो गई। दरअसल मौसम विज्ञानियों ने 18 अक्टूबर को बारिश की संभावना जताई थी। लेकिन रविवार को न्यूनतम तापमान 24 डिग्री के सापेक्ष 25.8 डिग्री तथा अधिकतम तापमान 35.8 डिग्री के सापेक्ष 36 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। लेकिन वायुदाब में 13 मिलीबार की गिरावट दर्ज हुई। इससे रविवार को मौसम नम हो गया। आसमान में छाए बादल फुहार बन बरसते रहे। ग्रामीण क्षेत्रों में भी हुई बारिश

शहर की तरह ही निगोही, पुवायां, तिलहर, जलालाबाद, कलान में भी आसमान में छाए बादल बरसे। इससे मौसम खुशगवार हो गया। लेकिन धान के नम हो जाने से कटाई में दिक्कत हुई। तेज हवा के साथ होगी बारिश

मौसम विज्ञानियों ने 18 व 19 अक्टूबर को 16 किमी तथा 20 अक्टूबर को 29 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना जताई गई है। इससे खासकर गन्ना व धान की फसल को नुकसान हो सकता है। सरसों व आलू की बुवाई पर भी प्रभाव पड़ेगा। 15 मिमी से अधिक बारिश हानिकारक

उत्तर प्रदेश गन्ना शोध परिषद के मौसम विज्ञानी डा. मनमोहन सिंह ने 15 मिमी तक बारिश को हितकारी बताया। कहा इससे अधिक बारिश से फसल बुवाई प्रभावित होगी। धान की कटाई पर भी प्रभाव पड़ेगा। तेज हवा से फसल गिरने का भी खतरा हो सकता है। उन्होंने किसानों को गन्ना बंधाई के साथ निगरानी की सलाह दी है।

Edited By: Jagran