शाहजहांपुर : घर में चीतल का मीट बना रहे प्रधानपति को वन विभाग की टीम ने पकड़ लिया। उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करते हुए पुलिस के हवाले कर दिया गया। हालांकि मीट खरीदकर लाया गया या फिर प्रधानपति ने चीतल का शिकार किया, इस पर वन विभाग की टीम कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। अधिकारियों का कहना है कि वह पूछताछ कर रहे हैं। जांच के बाद ही कुछ बता पाएंगे।

मंगलवार को पूर्वाह्न करीब 11 बजे वन विभाग की टीम ने पुलिस के लढ़ती गांव में प्रधान शांति देवी के घर छापा मारा। वहां प्रधानपति सुरेन्द्र कुमार को कुकर में चीतल का मीट बनाते हुए पकड़ लिया। सुरेन्द्र के पिता रूपन ने बताया डेढ़ किलो मीट को गांव में ही एक व्यक्ति से खरीदकर लाया था, लेकिन टीम सुरेंद्र को पकड़कर वन रेंज कार्यालय पर ले आयी। जहां सुरेन्द्र के खिलाफ वन्य जीव अधिनियम के तहत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। इसके साथ ही बरामद मीट को परीक्षण के लिए भेजा।

खुटार वन रेंज के सेक्शन प्रभारी एसपी गौतम ने बताया कि बरामद मीट चीतल (हिरन की एक प्रजाति) का है। उन्होंने बताया कि प्रधानपति के ऊपर मुकदमे के एक लाख रूपये का जुर्माना भी किया गया है। वन क्षेत्राधिकारी रणवीर मिश्र ने बताया कि सुरेन्द्र के खिलाफ और भी जांच की जा रही हैं। माना जा रहा है कि वह अन्य वन्य जीवों की हत्या में भी लिप्त हो सकता है। कार्रवाई में वन रक्षक कामता प्रसाद, वनरक्षक श्रीकेशन, संदीप यादव, जरदार यादव शामिल रहे।

बरामद मांस चीतल का ही है, हम प्रधानपति के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। चीतल को मारा गया या मांस खरीदकर लाया गया, इसकी जांच हो रही है।

एसपी गौतम, सेक्शन प्रभारी वन रेंज खुटार

वन विभाग की टीम ने हमसे फोर्स मांगी थी जो दे दी गई। अगर वे लोग थाने पर मुकदमा दर्ज कराते हैं तो हम कार्रवाई करेंगे।

राहुल ¨सह, एसओ खुटार

Posted By: Jagran