शाहजहांपुर: बुखार का कहर कम थम नहीं रहा है। खुदागंज के फुलवा गांव में पति-पत्नी समेत चार लोगों की मौत हो गई। वहीं खुटार क्षेत्र के गांव कहमारिया में एक बुजुर्ग की मौत हो गई। शहर से लेकर देहात तक बुखार से हाहाकर मचा हुआ है। बच्चे और बुजुर्ग इसकी चपेट में आ रहे हैं।

संवाद सूत्र, खुदागंज: क्षेत्र के गांव फुलवा में दो दिन के अंतराल पर पति-पत्नी समेत चार लोगों की मौत हो गई। इसमें 55 वर्षीय फकीरे लाल कई दिनों से बीमार चल रहे थे। परिजन कस्बा के ही झोलाछाप से उनका इलाज करा रहे थे। रविवार की सुबह उनकी घर में ही अचानक हालत बिगड़ गई और दम तोड़ दिया। शुक्रवार को फकीरे लाल की पत्नी 50 वर्षीय रामकटोरी की बुखार से मौत हो गई थी। इसी गांव के 50 वर्षीय लेखराज सप्ताह से बीमार चल रहे थे। स्थानीय डॉक्टरों से फायदा नहीं होने पर परिजनों ने उनको बरेली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। शनिवार की रात इलाज के दौरान लेखराज की मौत हो गई। वहीं रामदास की 70 वर्षीय पत्नी नन्ही देवी को करीब एक सप्ताह से बुखार आ रहा था। संवाद सूत्र, खुटार: क्षेत्र के गांव कहमारिया निवासी 60 वर्षीय हबीब को एक सप्ताह से बुखार आ रहा था। पहले परिजनों ने उनको खुटार सीएचसी पर दिखाया। जहां हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया था। जब जिला अस्पताल में कोई फायदा नहीं हुआ तो परिजनों ने दो दिन पहले बरेली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। वहां भी हालत में सुधार नहीं होने पर शनिवार की रात परिजन उन्हें लखनऊ ले जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन इससे पहले ही हबीब ने दम तोड़ दिया।

Edited By: Jagran