जेएनएन, शाहजहांपुर : बेटे की मौत के बाद महिला की भी इलाज के दौरान शुक्रवार को अस्पताल में मौत हो गई। स्वजन ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की।

तिलहर थाना क्षेत्र के सिरोवन नगर गांव निवासी मुकेश कुमार की पत्नी ज्योति को प्रसव पीड़ा होने पर पांच जून को शहर के जैन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां आपरेशन से ज्योति ने बेटे को जन्म दिया था। आठ जून को बालक की मौत हो गई। इसके बाद ज्योति की भी तबीयत बिगड़ने लगी। शुक्रवार सुबह उनकी भी मौत हो गई। ज्योति के पिता बरेली जिले के कैंट थाना क्षेत्र के उचौरिया मुहल्ला निवासी प्रेमपाल व अन्य स्वजन ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। प्रेमपाल ने चौक कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। इसके बाद राजघाट पुलिस चौकी प्रभारी अजयवीर सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने दोनों पक्षों से बात कर विवाद शांत कराने का प्रयास किया। लेकिन स्वजन मामले की जांच कराकर कार्रवाई करने की जिद पर अड़ गए। आरोप लगाया कि डेढ़ लाख रुपये से अधिक इलाज में खर्च होने के बाद भी डॉक्टर लगातार गुमराह करते रहे। जिस वजह से तबीयत बिगड़ती चली गई। प्रेमपाल ने बताया कि एक साल पहले ही बेटी की शादी हुई थी। जांच में मरीज के गुर्दे खराब निकले। जिसके बारे में स्वजन को जानकारी देकर सुबह नौ बजे रेफर कर दिया था। लेकिन उसके बाद भी स्वजन अस्पताल गेट पर मरीज को काफी देर तक एंबुलेंस में रोके रहे। अन्य आरोप निराधार है।

डॉ. सुनील कुमार जैन, अस्पताल संचालक स्वजन ने पोस्टमार्टम कराने के लिए तहरीर दी है। रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अजयवीर सिंह, चौकी प्रभारी राजघाट

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप