जेएनएन, जैतीपुर/ खेड़ा बझेड़ा: चालक को झपकी आने से डग्गामार बस अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पानी से भरी खाई में पलट गई। हादसे में करीब 35 सवारियां चोटिल हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से बस में फंसी सवारियों को शीशा तोड़कर बाहर निकला। घायलों को सीएचसी भिजवाया गया, जहां चार की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। अन्य सवारियों को प्राथमिक उपचार के बाद सीएचसी से छुट्टी दे दी गई।

दिल्ली से शाहजहांपुर के लिए बदायूं होते हुए रात में डग्गामार बसें चलती हैं, जिसमें क्षमता से अधिक सवारियां भरी जाती हैं। रविवार की शाम को आनंद विहार दिल्ली से सवारियां भरकर बस शाहजहांपुर के लिए रवाना हुई थी। सुबह करीब पांच बजे जैतीपुर-तिलहर रोड पर गांव नौगवां गोविदपुर के पास चालक को अचानक झपकी आने से बस अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पानी से भरी खाई में पलट गई। पीछे से आ रही पुलिस गाड़ी घटनास्थल पर रुक गई। पुलिस कर्मियों ने ग्रामीणों की मदद से बस के शीशे तोड़कर घायल सवारियों को बाहर निकाला। सभी को एंबुलेंस और अन्य साधनों के माध्यम से जैतीपुर सीएचसी भिजवाया, जहां चार लोगों की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। घटना के बाद चालक और परिचालक मौके से फरार हो गए। पुलिस ने बस को कब्जे में लिया है।

-------------

बस पलटते ही मची चीख पुकार

सुबह पांच बजे का समय होने की वजह से ज्यादातर सवारियां सो रहीं थीं। अचानक हुई घटना से बस में चीख-पुकार मच गई। ग्रामीणों ने घायलों को निकालने में पुलिस को काफी सहयोग किया। खाई में पानी भरे होने की वजह से सवारियों के कम चोट लगी।

------------

घायलों की सूची

घायलों में इसरार खान पुत्र बाबू गोला लखीमपुर, रीता पत्नी सोनू मकवाना थाना मैलानी लखीमपुर, अतीक पुत्र कर्ण शाहजहांपुर, फहीम पुत्र रफीक पिहानी थाना हरदोई, असजाद सना थाना पिहानी हरदोई, सीबू पुत्र फिरोज सिसोदा हरदोई, सुखलाल पुत्र ओमप्रकाश राजगढ़ लखीमपुर, बबलू पुत्र मुखराम शाहबाद, हसीब पुत्र नवाजुद्दीन गोला लखीमपुर खीरी, आशिक पुत्र अब्दुल करीम गोला मैलानी, चंदन पुत्र बाबू कांट शाहजहांपुर, शशी पत्नी चरण सिंह खुटार शाहजहांपुर, प्रतिभा पुत्री राजवीर रोजा शाहजहांपुर व नवीन पुत्र चरण सिंह खुटार शाहजहांपुर शामिल हैं। इसमें से हालत गंभीर होने पर इसरार, अतीक, बबूल और शशी को जिला अस्पताल रेफर किया गया।

-------------

बेटे ने बचाई इसरार की जान

लखीमपुर के गोला क्षेत्र के राजेंद्र नगर निवासी इसरार खां का बेटा इरशान खां नोएडा में नौकरी करता है। इसरार खां करीब एक माह पहले इरशान के पास नोएडा गए थे। रविवार की रात दोनों ईंद पर घर आने के लिए बस में सवार हुए थे। इरशान के मुताबिक बस खाई में गिरने के बाद उसमें पानी भरने लगा। जिससे उसके पिता पानी में डूबने लगे। उसके किसी तरह से पिता को अपने पैरों पर बैठाकर उनकी जान बचाई। अगर उसके पिता अकेले होते तो उनकी जान खतरे में पड़ सकती थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस