संतकबीर नगर: महुली थानाक्षेत्र के एक गांव के युवक का धनघटा थानाक्षेत्र के एक गांव की युवती से मोबाइल के जरिए प्यार हो गया। इन दोनों में प्यार इस कदर बढ़ा कि प्रेमी दोस्त के साथ प्रेमिका के गांव पर पहुंच गया। प्रेमिका को बाइक पर बैठाने के प्रयास के दौरान दोनों पकड़े गए। परिवार के सदस्यों ने ग्रामीणों के सहयोग से इन दोनों की पकड़कर जमकर पिटाई की। इसके बाद इन दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है ।

धनघटा थानाक्षेत्र के एक गांव की युवती से महुली थानाक्षेत्र के एक गांव के युवक का मोबाइल के जरिए प्रेम संबंध कायम हो गया। इनका प्रेम प्रसंग लगभग छह माह से चल रहा था। बीते शनिवार को शाम के समय प्रेमी अपने दोस्त के साथ प्रेमिका के घर पहुंच गया। अपनी बाइक पर प्रेमिका को बैठा कर ले जाने का प्रयास करने लगा। यह नजारा देख गांव के लोग तथा परिवार के सदस्य अवाक हो गए। प्रेमी तथा उसके दोस्त को पकड़ कर जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद इन दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया। थानाध्यक्ष रोहित प्रसाद ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच की जा रही है। तहरीर मिलने के बाद आगे उचित कार्रवाई की जाएगी। शादीशुदा महिला प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए पहुंची थाने

संतकबीर नगर: शादीशुदा महिला प्रेमी के साथ घर बसाने की चाह में रविवार को बखिरा थाने में पहुंची। महिला प्रेमी से शादी कराने के लिए पुलिस पर दबाब बनाती रहीं। चूंकि प्रेमी उससे शादी नहीं करना चाहता, इसलिए इस महिला को थाने पर आना पड़ा। पुलिस ने प्रेमी पर कार्रवाई के लिए तहरीर मांगी लेकिन महिला ने नहीं दी। प्रेमी के प्यार में इस कदर दिवानी थी कि वह उस पर कोई कार्रवाई नहीं कराना चाहती थीं।

बखिरा थानाक्षेत्र के एक गांव की 23 वर्षीय महिला की शादी वर्ष 2019 में बस्ती जनपद के ड़िघरापुर गांव के निवासी युवक के साथ हुई थीं। शादी होने के बाद भी पति के साथ नहीं रह पा रही थीं। इस महिला का गांव के निवासी युवक से प्रेम संबंध पहले से कायम था। दोनों दिल्ली फरार हो गए थे। तीन माह तक दिल्ली में रहने के बाद फिर वापस आ गए थे। महिला के बार-बार अनुरोध करने पर भी प्रेमी ने शादी से इंकार कर दिया। इसकी शिकायत लेकर प्रेमिका रविवार को थाने पर पहुंच गई। खास बात यह रही कि पुलिस प्रेमी पर कार्रवाई के लिए तहरीर देने के लिए बार-बार कहती रही लेकिन प्रेमिका प्रेमी पर कार्रवाई नही कराना चाहती थी। इसलिए चाहकर भी पुलिस कुछ नहीं कर पा रही थी।

Edited By: Jagran