संतकबीर नगर: मतदान के दिन पीठासीन अधिकारियों को कई बिदुओं पर सतर्कता बरतनी होगी। इसमें जरा भी लापरवाही बरतने पर दिक्कत बढ़ सकती है। मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण में इन्हें इससे अवगत करा रहे हैं। ऐसी समस्या आने पर इससे निपटने के उपाय बता रहे हैं।

बैलेट यूनिट(बीयू), कंट्रोल यूनिट(सीयू)से जोड़े जाने वाले वीवीपैट को पीठासीन अधिकारियों को इस प्रकार रखवाना होगा कि उस पर सूर्य की रोशनी अथवा धूप न पड़े। यदि मतदान के दिन माकपोल(नकली मतदान)के समय यदि बीयू, सीयू व वीवीपैट में से कोई भी यूनिट खराब होने की दशा में इन्हें तुरंत सीयू के पावर स्विच को आफ व केबल को डिसकनेक्ट करना होगा। पुन: 50 वोट डलवाकर माकपोल करवाना होगा। यदि मतदान के समय बीयू या सीयू अथवा दोनों के खराब होने की स्थिति में सीयू के पावर स्विच को आफ व केबल को डिसकनेक्ट करके तीनों यूनिटों को बदलना होगा। नई मशीनों में माकपोल के लिए प्रत्येक प्रत्याशी(नोटा सहित)को एक वोट डालकर प्रक्रिया शुरू करना होगा। मतदान के समय यदि केवल वीवीपैट खराब होने पर सीयू के पावर स्विच को आफ व केबल डिसकनेक्ट करके वीवीपैट को बदला जाएगा, माकपोल नहीं कराना होगा। सीयू के डिस्प्ले पैनल पर चेंज वीवीपैट बैट्री प्रदर्शित होने पर सीयू के पावर स्विच को आफ व केबल को डिसकनेक्ट करके वीवीपैट की बैट्री बदली जाएगी लेकिन माकपोल नहीं होगा। इसी तरह यदि सीयू के डिस्प्ले पैनल पर चेंज प्रिटर प्रदर्शित होने पर सीयू के पावर स्विच को आफ व केबल डिसकनेक्ट करके वीवीपैट बदला जाएगा लेकिन माकपोल नहीं होगा। माकपोल का डाटा सीयू से क्लियर करके व माकपोल की पर्ची वीवीपैट के बाक्स से निकालकर सील करना होगा, इसके बाद ही वास्तविक मतदान होना है।

------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप