संतकबीर नगर : भारत के विभिन्न राज्यों में निवास करने वाले आदिवासियों की संस्कृति व पहचान समाप्त करने के खिलाफ गुरुवार को राष्ट्रीय आदिवासी एकता परिषद ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। उनका आरोप था कि विकास के नाम पर जल, जंगल और जमीन से बेदखल करने के लिए हो रहे असंवैधानिक कुकृत्यों पर तत्काल रोक लगे। कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

संगठन के सूर्यभान ने कहा कि संविधान में आदिवासी समुदाय को अनुसूचित जनजाति के रूप में पहचान प्राप्त है। आदिवासी महापुरुषों ने जल, जंगल, जमीन और संस्कृति को सुरक्षित करने के लिए जान की बाजी लगाई थी। संवैधानिक व्यवस्था के विरोध में राज्य एवं केंद्र की सरकारें लगातार आदिवासियों के विरोध में कानून बनाकर आदिवासियों को उनकी भूमि से बेदखल करने का काम कर रही है। इस मौके पर श्यामसुंदर, धर्मेंद्र गौतम, अक्षय कुमार, शिव कुमार समेत तमाम लोग मौजूद रहे। स्वतंत्र पंच पार्टी कार्यकर्ताओं ने महंगाई के खिलाफ किया प्रदर्शन

संतकबीर नगर : भारतीय स्वतंत्र पंच पार्टी के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया। नेताओं ने कहा कि जनता पूरी तरह से टूट गई है, लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही। जनता की समस्याओं को लेकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप भूज भोजवाल ने कहा कि महंगाई चरम पर है और सरकार इस पर अंकुश लगाने में पूरी तरह से विफल साबित हो रही है। केंद्र सरकार ने पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दामों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी करके आम आदमी के साथ ही किसानों की कमर तोड़ दी है। बेरोजगारी का दंश झेल रहे नौजवानों को कुछ नहीं सूझ रहा है। इस मौके पर अनिल भोजवाल, दयानंद भोजवाल, राजेश, कृष्णा अग्रहरि, अवधेश गुप्त, विकास यादव, संगम चौधरी, अजय चौधरी, चंद्रभान अग्रहरि, राकेश कुमार अनिल कुमार, अवधेश अग्रहरि, मल्लू यादव, जोगेंद्र यादव, जयहिद यादव मौजूद रहे।

Edited By: Jagran