संतकबीर नगर: जनता मंहगाई से कराह रही है। फल, सब्जियों के साथ ही तेल और दाल के दाम आसमान छू रहे हैं। डीजल और पेट्रोल की कीमत सौ के पार है। इसके बाद भी भाजपा को इसकी चिता नहीं है, वह खुद ही अपनी पीठ थपथपाने में लगी है।

गुरुवार को सपा कार्यकर्ताओं की बैठक खलीलाबाद ब्लाक के ग्राम महुई में हुई। इस दौरान वरिष्ठ सपा नेता पवन कुमार छापड़िया उर्फ पप्पू ने यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई अपने चरम पर पहुंच गई है। ढुलाई का भाड़ा बढ़ने से हर वस्तुओं के दाम बढ़ रहे हैं। बेरोजगारी को लेकर भाजपा सरकार की उपलब्धि शून्य है। व्यापारी कारोबार बचाने की चिता में हैं। सभी को सपा सरकार के कार्य याद आ रहे हैँ। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 के चुनाव में प्रदेश में सपा की सरकार बनना तय है। इस दौरान गजपति सिंह, छाटेलाल यादव, द्वारिका प्रसाद यादव, डा. इंद्रजीत यादव, संतोष विश्वकर्मा, पीतांबर यादव, रवि यादव,ऋषिकेश यादव, जवाहर मिश्र समेत अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे। रालोद की बैठक में सरकार की निदा

संतकबीर नगर: राष्ट्रीय लोकदल कार्यकर्ताओं की बैठक गुरुवार को शहर के गुड़ मंडी स्थित कार्यालय पर हुई। क्षेत्रीय अध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने प्रदेश सरकार के नीतियों की निदा करते हुए कार्यकर्ताओं से आमजन की लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि किसान सड़कों पर हैं लेकिन सरकार उनकी सुन नहीं रही। महंगाई अपने चरम पर पहुंच गई है। बेरोजगारी पिछले कई दशकों का रिकार्ड तोड़ दी है, लेकिन सरकार सुनने को तैयार नहीं है।

इससे पूर्व क्षेत्रीय अध्यक्ष ने प्रदेश प्रवक्ता अजय सिंह व वरिष्ठ नेता रमाराम पासवान की उपस्थिति में जिला कमेटी का गठन किया गया। नवगठित कमेटी में विपिन सिंह को जिलाध्यक्ष व रामनवल शर्मा को महासचिव नियुक्त किया गया। इसके साथ ही राजनाथ गुप्ता, संजय सिंह, रशीद अहमद, रमाकांत चौधरी को जिला उपाध्यक्ष, राधेश्याम यादव, बलिराम चौधरी, गोविद सिंह सैंथवार, इलियास अंसारी, दयाराम सिंह को जिला सचिव, रामदयाल को कोषाध्यक्ष, वीरेंद्र चौहान को जिला संयोजक, धर्मेंद्र मिश्र को खलीलाबाद, धर्मेंद्र चौधरी को धनघटा व मोहम्मद उमर को मेंहदावल विधानसभाध्यक्ष नामित किया गया। नियुक्त किया गया। पार्टी के किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष गंगा सिंह सैंथवार ने सभी को संगठन की मजबूती के लिए लग जाने का आह्वान किया। उन्होंने भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। बैठक में मनोज सिंह, बजरंगदेव सिंह, पंकज चौधरी, राधेश्याम यादव, मुकेश निषाद, संतोष अग्रहरि, नेबूलाल शर्मा, महेश यादव, मान सिंह आदि मौजूद रहे।