संत कबीरनगर : चीन ने भारत के भूभाग पर कब्जा करने का मंसूबा पाल रखा है। यह कभी नहीं होने पाएगा। वह समय और था जब हमारे पास संसाधनों की कमी होने का लाभ उठाकर उसने धोखे से हमला करके भारत की भूमि पर कब्जा किया था। अब भारत उसके साथ दो-दो हाथ कर हर हरकतों का जवाब देने में सक्षम है। सैनिकों की हत्या का गम सभी को है। इसे बेकार नहीं जाने देंगे। समाज के लोगों की प्रतिक्रिया इस तरह सामने आई। धोखेबाज है चीन

चीन ने हिदी चीनी भाई-भाई का नारा देकर 1962 में धोखा किया। अब भारत सतर्क हो चुका है। देश के हर नागरिक खून का एक-एक कतरा देश के लिए बहाने को तैयार है। केंद्र सरकार का हर निर्णय सभी को शिरोधार्य है। चीन को इस बार कड़ा सबक सिखाया जाना चाहिए।

अभिनंदन तिवारी चीन को चबाना होगा लोहे का चना भारत प्रेम और सौहार्द को बढ़ावा देने वाला देश है। हमारे ही महात्मा बुद्ध ने चीन जैसे अशिष्ट देश के निवासियों के बीच ज्ञान का दीप जलाने का कार्य किया। वहां की सरकार अब मानवता के खिलाफ कार्य कर रही है तो हम भी कम नहीं है।

कुलदीप मणि मिश्र, बसपा नेता पहले फैलाया कोरोना, अब लड़ाई के मूड में

चीन ने दुनिया भर में कोरोना की महामारी को फैलाने का कार्य किया। अब वैश्विक दबाव से घिर जाने के बाद वह ध्यान हटाने के लिए भारत से लड़ाई की तैयारी कर रहा है। 20 सैनिकों की हत्या करके चीन ने जघन्य अपराध किया है। देश का हर नागरिक इसकी निदा करता है।

वसीम अकरम, सामाजिक कार्यकर्ता भारत वीरों की धरती है 1962 के युद्ध में संसाधनों की कमी के बाद भी मेजर धान सिंह थापा ने अकेले ही चीन की बड़ी टुकड़ी को कब्जे में रखा था। अब तो हमारे पास सबकुछ है। समय बदल गया है, भारत वीरों की धरती है, चीन को अपना मुगालता छोड़कर सीमा पर घिनौनी हरकतें करने से बाज आना चाहिए।

रजत गुप्त, सामाजिक कार्यकर्ता तलवान घाटी भारत का है

तलवान घाटी भारत का हिस्सा है। बल प्रयोग करके यहां चीन कब्जा करने का प्रयास कर रहा है। अंतर्राष्ट्रीय संधि का उल्लंघन करते हुए चीन हमेशा इस प्रकार का कार्य करता रहा है। सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस स्थल पर भारत अपनी तैयारियां मजबूत कर चुका है। यहां चीन कब्जे में सफल नहीं हो पाएगा।

सेवानिवृत्त कर्नल राजेंद्र यादव भारत से जंग चीन को पड़ेगी भारी अब भारत की सैन्य क्षमता का लोहा पूरी दुनिया मानती है। हमसे जंग चीन को भारी पड़ेगी। भारत अपनी सीमाओं की सुरक्षा के लिए सक्षम है। देश के एक टुकड़े जमीन पर बुरी नजर डालने वाले दुश्मन हमारे जवान तबाह करने में सक्षम हैं।

सुनील छापड़िया, व्यवसायी

Edited By: Jagran