संतकबीर नगर: सांसद, विधायक सहित अन्य जन प्रतिनिधियों की मौजूदगी में छह मार्च 2018 को पंजीकृत जोड़े सात फेरे लेंगे। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत इनके शादी कराने के लिए अभी कार्यक्रम स्थल का चयन नहीं हुआ है। समाज कल्याण विभाग के मुताबिक दो से तीन दिन में स्थल चयन कर लेने की बात कही जा रही है। इस योजना के तहत जनपद के ब्लाकों व निकायों से कुल 70 जोड़ों ने अपना पंजीकरण शादी के लिए कराया है। शासन व प्रशासन की सख्ती के बाद भी नगर पंचायत मेहदावल व मगहर से एक भी जोड़े का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है।

शासन ने इस योजना के तहत इस जनपद को 476 जोड़ों के शादी करने का लक्ष्य दिया है। प्रत्येक ब्लाक को 41-41 तथा नगरपालिका खलीलाबाद-35, नगर पंचायत मेहदावल-20, नगर पंचायत हरिहरपुर-30 तथा नगर पंचायत मगहर को 32 का लक्ष्य दिया गया है। शासन ने अब इस योजना में अंत्योदय-पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को भी पात्र माना जाएगा। इसके पहले आवेदक के परिवार की आय गरीबी रेखा के अंतर्गत होने का प्रावधान है। ग्रामीण क्षेत्र के लिए 46,080 रुपये तथा शहरी क्षेत्र के आवेदकों की आय 56,460 रुपये सालाना से कम आय होना चाहिए। जिला समाज कल्याण अधिकारी उमाकांत शुक्ल ने कहाकि इस योजना के तहत कन्या के बैंक खाते में 20 हजार रुपया भेजा जाएगा, जबकि विधवा, तलाकशुदा के मामले में सहायता राशि 25 हजार रुपये दी जाएगी। विवाह के लिए जरुरी सामग्री कपड़े, चांदी की बिछिया, पायल सहित सात बर्तन खरीदने पर 10 हजार रुपये जबकि विधवा, तलाकशुदा के मामले में पांच हजार रुपये खर्च किए जाने हैं। जिला समाज कल्याण अधिकारी उमाकांत शुक्ल ने कहाकि शादी की तिथि तय हो गई है, दो से तीन दिन में कार्यक्रम आयोजित करने के लिए स्थल का भी चयन कर लिया जाएगा।

-------------------------

Posted By: Jagran