संत कबीरनगर :

प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में लगे इंडिया मार्क हैंडपंप खराब है। जल निगम, शिक्षा विभाग व विकास विभाग की नूराकुश्ती में खराब हैंडपंप ठीक नहीं हो पा रहा है और बच्चे दूषित जल पीने के लिए मजबूर हैं।

विकास विभाग का दावा है कि धन उपलब्ध कराने के बावजूद हैंडपंप अब तक सही नहीं करवाया गया है तथा जिन विद्यालयों में लगवाया गया है उनमें भी अधिकतर खराब हो गया है। इसके साथ ही जो चालू हालात में हैं वह भी पानी के नाम पर जहर उगल रहे हैं। इस स्थिति में विद्यालय में बनने वाले मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

सांथा के प्राथमिक विद्यालय बरगदवा माफी, पूर्व माध्यमिक विद्यालय लोहरसन, प्राथमिक विद्यालय प्रतापुर, प्राथमिक विद्यालय बनखोरियां, पूर्व माध्यमिक विद्यालय देवकली जैसे अधिकांश विद्यालयों के बच्चे पेयजल की समस्या से दो-चार हो रहे हैं।

-------

नौनिहालों पर जलजनित बीमारियों का खतरा

विद्यालयों में लगे हैंडपंप से दूषित जल निकल रहा है इससे जलजनित बीमारियों की आशंका है। सीएचसी अधीक्षक डाक्टर एसके सिंह ने बताया कि दूषित जल से जानलेवा बीमारियां फैलती हैं। गर्मी का समय आ रहा है इसमें उल्टी, दस्त, डायरिया, पीलिया सहित इंसेफ्लाइटिस समेत अनेक रोगों के फैलने की संभावना रहती है ऐसे में दूषित जल पीने से परहेज रखें।

----

जल्द दूर होगी समस्या

सहायक विकास अधिकारी सांथा सभाजीत यादव ने बताया कि विद्यालयों में लगे हैंडपंप के खराब होने तथा दूषित पानी देने की जांच की जा रही है। कुछ जगहों की सूचना है जिसके लिए प्रधान व सचिव को पत्र लिखकर तत्काल रिबोर करवाने का निर्देश दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस