संतकबीर नगर : मकर संक्राति को लेकर सभी में उत्साह है। मंगलवार को सांप्रदायिक सौहार्द के प्रतीक संतकबीर की मगहर स्थित समाधि पर श्रद्धालु खिचड़ी चढ़ाएंगे। यहां भारी संख्या में दूर -दराज के लोग स्थली पर जुटते हैं। यहां आध्यात्मिक सत्संग भी होगा। दान -पुण्य फलदायी

आचार्य दयाशंकर पांडेय व रमेशचंद्र दूबे ने महत्ता को बताया कि सूर्य का राशि परिवर्तन को संक्रांति है। सूर्य, पृथ्वी पर प्रकाश एवं ऊर्जा का बहुत बड़ा स्त्रोत है। मकर संक्रांति पर खिचड़ी का भोग लगाकर दान पुण्य करने से सुख, समृद्धि संभव है। आचार्य गौरीशंकर शास्त्री ने कहा कि इसी दिन से छह माह तक चेतन, अन्य ऊर्जा तथा कार्य शक्ति में वृद्धि होती है। सूर्य के उत्तरायण की अवधि देवताओं की होती है।

घाटों पर लगेगा मेला

मकर संक्रांति पर्व पर राप्ती नदी स्थित करमैनी व नौगो, घाट, कुआनों नदी स्थित मुखलिसपुर, सांखी व घाघरा नदी स्थित चहोड़े, बिड़हर, मयंदी एवं रामबागे घाट आदि स्थानों पर स्नान कर पूजा-अर्चना करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप