जागरण संवाददाता, संतकबीर नगर: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार ने कहा कि एआरपी, एसआरजी व डायट मेंटर की टीम का गठन शैक्षिक गुणवत्ता उन्नयन के लिए किया गया है। सभी को शिक्षकों के साथ समन्वय स्थापित करके अपने अनुभवों को साझा कर विद्यालय को प्रेरक बनाने को कहा।

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) पर अकादमिक समीक्षा बैठक के दौरान बेसिक शिक्षा अधिकारी ने विभाग के नए निर्देशों के बारे में अकादमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) को जानकारी दी। डायट के प्रभारी प्राचार्य ओंकारनाथ मिश्र ने कहा कि सरकार का लक्ष्य प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में नामांकित बच्चों को बेहतर शिक्षा देने का है। इसके लिए सहयोगी विशेषज्ञों को लगाया गया है। इस मौके पर जिला समन्वयक प्रशिक्षण नवीन कुमार दूबे, भाष्कर मणि त्रिपाठी, अशोक कुमार गुप्त, शरदेंदु प्रकाश पांडेय, अमरेश चौधरी, मनोज पांडेय, जिला समन्वयक बजरंगी विश्वकर्मा, राजीव उपाध्याय, डा. हरि प्रकाश पाठक, अविनाश उपाध्याय, संजय द्विवेदी, अरविद पांडेय समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

काउंसिलिग कराने वाले अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी

संतकबीर नगर: माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड से जिले में 176 शिक्षकों की तैनाती मिली है। इसमें 10 प्रवक्ता व 166 सहायक अध्यापक शामिल हैं। शनिवार तक काउंसिलिग कराने वाले सभी 161 नवनियुक्त शिक्षकों के शैक्षिक अभिलेखों का सत्यापन कर नियुक्त पत्र भेजा जा चुका है।

जिला विद्यालय निरीक्षक गिरीश कुमार सिंह ने बताया कि प्रवक्ता व सहायक अध्यापक पर चयनित सभी शिक्षकों की तैनाती सहायता प्राप्त विद्यालयों में हुई है। काउंसिलिग कराने वाले सभी का तैनाती पत्र भेज दिया गया है। 15 सहायक अध्यापकों ने अभी उपस्थिति नहीं दर्ज कराई है।

Edited By: Jagran