संतकबीर नगर: कोतवाली क्षेत्र के भदांह चौराहा पर किराए के मकान में 14 अगस्त की रात में हत्या हुई थी। तीन सप्ताह बाद भी सब्जी विक्रेता राम किशुन की हत्या का खुलासा नहीं होने से पूरा परिवार खौफ के साये मे जीने को मजबूर है। पत्नी अपने बयान पर अडिग है ।

बखिरा थानाक्षेत्र के भैंसठ निवासी मृतक राम किशुन की पत्नी प्रेमा देवी ने बताया कि पति की हत्या भदाह चौराहे पर हुई थी। पोस्टमार्टम मे हत्या की पुष्टि हुयी थी। तीन सप्ताह बाद भी हत्या का खुलासा न होने पर कहा कि पति के हत्यारे अभी भी घूम रहे है। पुलिस खुलासा करने में लीपा पोती कर रही है। जिससे पूरा परिवार खौफ के साये मे जी रहे है। हत्यारों का खौंफ इतना है कि अपने मकान मे न रहकर अपने ज्येष्ठ के घर पर रहने को मजबूर है। पूर्व मे स्वाट टीम प्रभारी प्रदीप ¨सह ने भदांह चौराहा से आधा दर्जन लोगों व पैतृक निवास की प्रधान सेक्रेटरी से घंटो पूछताछ कर चुकी है।

प्रभारी की मृतक राम किशुन मनरेगा मजदूर संघ का ब्लाक अध्यक्ष पाया गया। वह प्रधान के खिलाफ जन सूचना अधिकार के तहत आय व्यय का ब्यौरा मांगा गया था। इन सब तमाम पहलुओ को लेकर जांच मे जूटी हुई है। रामकिशुन की हत्या के राज से पुलिस अभी तक खुलासा से दूर है।

पुलिस का हाथ खाली दिख रहा है। तीन सप्ताह बीत जाने के बाद भी हत्या का खुलासा न होने से परिजन दहशत में जी रहा है। स्वाट प्रभारी का कहना है कि हत्या से जुड़ी सभी कड़ियों को जोड़ा जा रहा है। शीघ्र ही इस मामले का खुलासा कर दिया जाएगा ।

Posted By: Jagran