संतकबीर नगर: महुली थानाक्षेत्र के काली जगदीशपुर चौराहे के समीप एक घर में गुरुवार की तड़के तीन बजे रसोई गैस सिलेंडर में विस्फोट हुआ। धमाका इतना तेज था कि कमरे में लगा शटर टूट गया। तेज आवाज से आसपास के लोग भयभीत हो गए। इस घटना में एक ही परिवार के चार सदस्य झुलस गए। इनकी हालत गंभीर देखकर स्थानीय अस्पताल के डाक्टरों ने गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया।

बैंक तिराहा-काली जगदीशपुर में किराए के मकान में रह-रहे 40 वर्षीय हबीबुल्लाह चूड़ी और अंडे की दुकान चलाते हैं। ये बीते बुधवार की रात पत्नी और बच्चों के साथ कमरे का शटर बंद करके सो रहे थे। कमरे मे खाना बनाने के लिए रखे रसोई गैस के सिलेंडर के रेगुलेटर से अचानक रात में रिसाव होने लगा। इसकी वजह से पूरे कमरे में रसोई गैस फैल गई। वहीं इस कमरे में मच्छर से बचाव के लिए जलाए गए क्वायल से आग लग गई। देखते ही देखते आग की लपटें विकराल रुप लेने लगी। इसी बीच रसोई गैस सिलेंडर में तेज विस्फोट हुआ। धमाका इतना तेज था कि कमरे का शटर टूट गया। इस परिवार के सदस्यों के चिखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर मौके पर आसपास के लोग पहुंचे। इन्होंने आग से झुलसे हबीबुल्लाह, इनकी पत्नी आबिदा खातून, पांच वर्षीय बेटे वाजिद अली व सात वर्षीय बेटी शबनम को शटर के रास्ते बाहर निकाला। इन्हें उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र(सीएचसी)नाथनगर में पहुंचाया। यहां के डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला संयुक्त चिकित्सालय रेफर कर दिया। वहीं यहां के डाक्टरों ने हालत गंभीर देख इन्हें बीआरडी मेडिकल कालेज-गोरखपुर रेफर कर दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस