संतकबीर नगर: बिहार के नवादा से ईंट-भट्ठा श्रमिकों को हरियाणा के सोनीपत ले जा रही निजी बस का चालक दुर्घटना कर फरार हो गया। श्रमिक व स्वजन मेंहदावल में लगभग 28 घंटे फंसे रहे। पुलिस ने बस को मेंहदावल के बस स्टेशन के परिसर में खड़ा करवा दिया था। रविवार की रात लगभग 10 बजे श्रमिकों को दूसरी बस से सोनीपत रवाना किया गया।

बस शनिवार की सुबह छह बजे नवादा से 60 श्रमिकों को लेकर चली थी। मेंहदावल के बाराखाल चौराहे के पास शाम पांच बजे बस ने कस्बा निवासी आठ वर्षीय बच्ची को ठोकर मार दी। बच्ची को हल्की चोट आई। दुर्घटना के बाद बस को वहीं छोड़कर चालक फरार हो गया। मेंहदावल पुलिस ने बस को बस स्टेशन परिसर में खड़ा करवा दिया। शनिवार की रात में थानाध्यक्ष राजेश द्विवेदी ने बस्ती निवासी बस मालिक अभिषेक श्रीवास्तव से मोबाइल फोन से संपर्क किया तो उन्होंने दूसरी बस की व्यवस्था करने की बात कही, लेकिन रविवार की शाम तक कोई व्यवस्था नहीं करने पर थानाध्यक्ष ने फिर संपर्क किया तो रविवार की रात 10 बजे दूसरी बस की व्यवस्था की। राशन वितरण में धांधली से गुस्साए ग्रामीणों का प्रदर्शन

संतकबीर नगर : सांथा ब्लाक के ग्राम पंचायत अगियौना के 28 अंत्योदय व पात्र गृहस्थी के राशन कार्डधारकों ने बीते शनिवार को गांव में कोटेदार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इनका कहना है कि अंगूठा लगवाने के बाद भी कोटेदार उन्हें राशन नहीं दे रहे हैं।

प्रदर्शन के दौरान मुंशी अली, जगन्नाथ आदि ने कहा कि कोटेदार की मनमानी से कार्डधारकों को समय से राशन नहीं मिल पा रहा है। पूर्व में इसकी शिकायत बेलहर थाने में आयोजित थाना समाधान दिवस में एसडीएम से की गई थी। उनके निर्देश पर जांच के लिए पहुंचे राजस्व लेखपाल ने कोटेदार से संपर्क करके समस्या का समाधान करने की कोशिश की लेकिन उन्हें इसमें सफलता नहीं मिली। आक्रोशित कार्डधारकों ने एसडीएम से कोटेदार का लाइसेंस निरस्त कर नए सिरे से कोटे की दुकान का आवंटन करने की मांग की है। इस मौके पर कैलाश, अब्दुल सत्तार, सुखदेव, शिवकुमार, सुमित्रा देवी, सोनी, सुनीता कुमारी, निर्मला, सुमित्रा, गुड़िया, माधुरी, सरोजा, वाहिद अली, उर्मिला, रामकिशोर, मीना देवी, धर्मराज, रामकुमार मौर्य, राममिलन समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran