संतकबीर नगर: एसपी डा. कौस्तुभ रविवार को अचानक महुली थाने पर पहुंचे। उन्होंने बीट प्रभारियों के साथ बैठक की। पुलिसकर्मियों को कर्तव्य निष्ठा का पाठ पढ़ाया। हल्का में किस प्रकार कार्य करना चाहिए, उसके बारे में महत्वपूर्ण टिप्स दिए। उन्होंने थानाध्यक्ष से कहा कि हल्का में तीन वर्ष की अवधि पूरा कर चुके पुलिस कर्मियों के कार्य क्षेत्र में बदलाव किया जाए।

एसपी ने आगे कहा कि सप्ताह में दो दिन बीट आरक्षियों को फ्री रखें। वह इस दौरान क्षेत्र में रहकर बीट बुक को दुरुस्त कर सकेंगे। थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार सिंह से कहाकि बीट प्रभारियों को किसी तरह का अन्य कार्य का दायित्व मत सौंपे। बीट प्रभारियों को कार्य के प्रति अवगत कराते हुए एसपी ने कहा कि समाधान दिवस में पड़ने वाले प्रार्थना पत्रों का निस्तारण हर हाल में पांच दिन में करें। नहीं तो दंडात्मक करवाई होगी। अपने क्षेत्र में प्रधान, पूर्व प्रधान के अलावा गणमान्य लोगों के संपर्क में रहें। आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की पहचान करने के साथ ही उनके इतिहास को बीट रजिस्टर में दर्ज करें। फरियादियों के साथ नरमी से बात करें। पुलिस को जनता के सहयोग से ताकत मिलती है। इस अवसर पर सीओ रामप्रकाश, प्रमोद कुमार यादव, उपनिरीक्षक वीरेंद्र यादव, धर्मेन्द्र कुमार यादव, सत्येंद्र कुमार, लालजी यादव, राजेश मिश्र आदि मौजूद रहे। मगहर में रेलवे ट्रैक पर मिला अधेड़ का शव

संतकबीर नगर: मगहर रेलवे स्टेशन के समीप रविवार की शाम अधेड़ व्यक्ति का शव मिला। रेलवे ट्रैक पर सिर फटा हुआ व बायां पैर कटा हुआ था। शव मिलने की सूचना पर तत्काल रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची। शव की शिनाख्त करने का प्रयास किया गया लेकिन इसमें सफलता नहीं मिली।

मुख्य आरक्षी संतोष राव, मो. रफीक व मोहन कुमार ने आसपास शव के बारे में पता किया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। आरपीएफ चौकी प्रभारी आजम अंसारी ने बताया कि मध्य ट्रैक पर शव मिला है। मृतक व्यक्ति के पास कोई पहचान पत्र, यात्रा टिकट नहीं था। सफेद रंग का सिला हुआ जाघियां पहना हुआ है। संभावना है कि रेलवे ट्रैक पार करते समय किसी ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई ।

Edited By: Jagran