संतकबीर नगर, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर जिले में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां अज्ञात कारणों से झोपड़ी में आग लगने से एक मासूम बालक जिंदा जल गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। आग की सूचना पर ग्रामीण जबतक मौके पर पहुंचे कि सब कुछ जलकर राख हो चुका था। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने जले हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आग लगने की वजह जानने की जांच में जुटी हुई है। हालांकि अभी तक परिजनों का किसी तरह का आरोप-प्रत्यारोप नहीं है। वहीं मासूम की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल बना है।

यह है पूरा मामला

बस्ती जनपद के पिपरा गौतम निवासी हरीश गरीबी के चलते अपने चार बच्चों और पत्नी के साथ संतकबीर नगर जिले के खलीलाबाद कोतवाली थाना क्षेत्र के तेंदुआ माफी गांव के बगीचे में झोपड़ी डालकर रहता था। किराये पर खेत लेकर सब्जी उगाकर बेचता था, जिससे उसके परिवार का भरण पोषण चलता था।

शादी कार्यक्रम में खाना खाने गया था परिवार

हरीश अपने छोटे बेटे 6 वर्षीय सर्वेश को एक चारपाई पर सुलाकर गांव में ही एक शादी कार्यक्रम में खाना खाने के लिए पत्नी और बेटियों के साथ चला गया था, कि इसी बीच अज्ञात कारणों से झोपड़ी में आग लग गई। आग की चपेट में आया सो रहा 6 साल का मासूम सर्वेश जिन्दा जलकर खाक हो गया।

चारपाई सहित जलकर राख हुआ मासूम

बता दें कि सिवान में शौच के लिए गया एक युवक ने आग की लपटों को देखा तो इसकी जानकारी गांववालों को दी, जिसके बाद ग्रामीण बाल्टी में पानी लेकर मौके पर पहुंचकर आग बुझाने लगे। लेकिन तब तक सब कुछ जलकर खाक हो चुका था। जब लोगों की नजर मासूम पर पड़ी तो वह चारपाई सहित पूरी तरह से जल गया था। उसे पहचानना भी मुश्किल था। गांव में शोर और आग की सूचना पाकर पहुंचे मां-बाप के पैरों तले जमीन खिसक गई। पूरा परिवार दहाड़े मारकर रोने लगा।

Edited By: Pragati Chand

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट