संत कबीरनगर: दीवानी कचहरी के अधिवक्ता गुरुवार को पांचवें दिन भी अपनी मांगों को लेकर अड़े रहे। सिविल बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष ईश्वर प्रसाद पाठक अधिवक्ताओं के साथ धरनास्थल पर पहुंचे। इन्होंने दीवानी कचहरी में व्याप्त समस्याओं का समाधान न होने तक न्यायिक कार्य न करने का समर्थन किया। संयुक्त बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आगे भी न्यायिक कार्य न करने का निर्णय लिया।

सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महीप बहादुर पाल व जनपद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष कृष्णमोहन मिश्र के नेतृत्व में अधिवक्ता धरने पर बैठे रहे। अधिवक्ताओं का कहना है कि कचहरी परिसर में उन्हें निर्धारित भूमि 1/20 भाग नहीं दिया जा रहा है। परिसर से जबरन फोटोकापी, चाय-पान की दुकानें हटा दी गई। इससे न केवल उन्हें अपितु कचहरी में आने वाले फरियादियों को दिक्कत हो रही है। उनके हिस्से की भूमि उन्हें न्यायालय भवन के निकट में दी जाए। उच्च न्यायालय को स्थिति से अवगत करा दिया गया है। इसके बावजूद अभी तक कोई सार्थक हल नहीं निकला।

धरना देने वालों में दुर्गेश नारायण मिश्र, चतुरजी शुक्ल, शशि कुमार ओझा, निरंजन सिंह, राणा रवींद्र सिंह, रणजीत चौधरी, मिथिलेश यादव, प्रदीप पांडेय, अबरार अहमद, रवीश श्रीवास्तव, मो.मोकर्रम खां के अलावा अन्य अधिवक्ता उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस