संतकबीर नगर : सर्व शिक्षा अभियान से प्राप्त धन व विभिन्न मदों में हुए व्यय की जांच शुरू हो गई है। बुधवार को लेखा परीक्षक की टीम ने परीक्षण किया। बीएसए कार्यालय में आरके श्रीवास्तव के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका

विद्यालयों का आय-व्यय की जांच की। यहां सहायक लेखा एवं वित्त अधिकारी विश्वनाथ के साथ विभागीय अधिकारी व लेखाकार मौजूद रहे।

बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूलों और बीआरसी/एनपीआरसी केंद्रों पर की आडिट 24 सितंबर से चलेगी। राज्य परियोजना कार्यालय द्वारा परिषदीय विद्यालयों के एसएमसी खातों, बीआरसी और एनपीआरसी खातों में धनराशि, यूनिफार्म वितरण, भुगतान, रंगाई-पुताई सहित विभिन्न मदों में व्यय का अंकेक्षण होगा। पिछली वर्षों में हुई गड़बड़ियों से सबक लेते हुए सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पहले से तैयारी करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। प्रोफार्मा जारी करते हुए उसके

मुताबिक ब्यौरा फीड कराने के लिए कहा है, जिसे आडिट टीम के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगानिर्धारित मदों/ गतिविधियों के अनुसार वित्तीय नियमों का पालन करते हुए उपभोग प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। प्रपत्र बिल, बाउचर्स, वेतन बिल और टीए बिल को एकत्र करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रत्येक बैंक खाते का प्रतिमाह बैंक समाधान विवरण तैयार करने के लिए कहा गया है। प्रभारी बीएसए डा. नरेंद्र ¨सह ने बताया कि इसके लिए सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं। पहले दिन 24 को खलीलाबाद व नाथनगर, 25 को मेहदावल व बघौली ब्लाक की, 26 को बेलहर व सांथा, 27 को पौली व हैंसर बाजार, 28 को सेमरियावां व 29 को समस्य एपीआरसी, बीइसी, एसएमसी आदि का अंकेक्षण होगा।

Posted By: Jagran