जेएनएन, सम्भल: कोतवाली क्षेत्र के एक डाक्टर की बेटी का 13 दिन पहले अपहरण कर लिया गया था। किशोरी को तलाशने के लिए पुलिस की 10 टीमें लगी हैं लेकिन, किशोरी का सुराग नहीं लग पाया है। उधर, अब स्वजन का धैर्य जवाब देने लगा है। मंगलवार को वे हिदू संगठनों के पदाधिकारियों के साथ एसडीएम कार्यालय पहुंचे और मुख्यमंत्री संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। कहा कि दो दिन का समय और देते हैं। बेटी नहीं मिली तो 30 जुलाई से तहसील में धरने पर बैठ जाएंगे।

किशोरी की बरामदगी को लेकर

हिदू संगठन कोतवाली में भी धरने पर बैठ चुके हैं। महापंचायत कर रोड जाम करने की भी चेतावनी दे चुके हैं। स्थिति हाथ से निकलती देख मंगलवार को हिदू संगठन के पदाधिकारी किशोरी के स्वजन के साथ एसडीएम कार्यालय पहुंचे। मुख्यमंत्री संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। किशोरी की मां ने कहा कि पुलिस के साथ जाने से धन व समय काफी बर्बाद हो रहा है। अब मैं पूर्ण रूप से धैर्य खो चुकी हूं। पुत्री के अपहरण से अधिक गहरी चोट कोई नहीं हो सकती। अगर अब दो दिन के अंदर पुलिस ने किशोरी को नहीं तलाश तो 30 जुलाई से तहसील में बेमियादी धरने पर बैठेंगे। उधर, सीओ अरुण कुमार ने बताया कि किशोरी को तलाशने के लिए पुलिस लगी हुई है। जल्द ही सफलता मिलने की उम्मीद है। यह था मामला

किशोरी को दूसरे संप्रदाय का युवक किशोर पिछले दिनों ले गया था। वह हेड कांस्टेबल का बेटा है, जिसने दूसरी शादी के चक्कर में खुद का भी धर्म बदल लिया है।

Edited By: Jagran