जेएनएन, चन्दौसी: चांद दिखने के बाद ईद का एलान होने परमुस्लिम परिवार में खुशी का माहौल छा गया। सभी लोग एक दूसरे को ईद की मुबारक बाद देते नजर आए। घरों की साफ सफाई की और बाजारों में खरीदारी में महिला पुरुष सुबह से दिखाई दिए। कोरोना संक्रमण के चलते सामूहिक नमाज को अदा करने की अनुमति नहीं दी गई है। ऐसे में लोग घरों पर नमाज अदा करने की तैयारी कर रहे हैं, वहीं मस्जिदों में साफ-सफाई की गई।

ईद का त्योहार शुक्रवार को हैं। जिसको लेकर मुस्लिम समुदाय के लोग सुबह से तैयारियां में जुट गए। महिलाओं ने पूरे घर की साफ सफाई की और आने वाले मेहमानों का स्वागत करने को लेकर पकवान बनाने में पूरे दिन जुटी रही। उधर खुद के साथ बच्चों के लिए नए कपड़े आदि खरीदने के लिए बाजारों में सुबह से लेकर देर रात तक दुकानों पर लोगों की भीड़ दिखाई दी। जारई गेट, मुरादाबाद गेट, बड़ा बाजार आदि लोगों की खासा भीड़ दिखाई दे रही है। उधर सीओ गोपाल सिंह, कोतवाली देवेन्द्र कुमार सिंह भारी पुलिस बल व पीएससी के जवानों के साथ जारई गेट, कुरेशियान, सीकरी गेट, नखासा आदि क्षेत्रों में भ्रमण किया। इस दौरान खुली दुकानों को बंद कराया। इस दौरान लोगों से शारीरिक दूरी का पालन करने की बात कही। पुलिस सतर्क ड्रोन कैमरे से लिया मुस्लिम क्षेत्रों का जायजा

चन्दौसी: जहां मुस्लिम परिवार ईद को लेकर उत्साहित होकर तैयारियां में जुटे हुए हैं। वही ईद पर कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाव के लिए कोविड के नियमों का पालन कराने और कोई अप्रिय घटना न घटे इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने भी पूरी तैयारियां कर ली है। नगर की बड़ी व छोटी ईदगाह पर तालाबंदी कर दी है। मस्जिद के मौलवियों से भी मस्जिद में पांच लोग ही नमाज अदा करने की चेतावनी दे दी है। वहीं सीओ, व कोतवाली प्रभारी ने पुलिस बल के साथ मुस्लिम क्षेत्रों में भ्रमण करके ड्रोन कैमरे से क्षेत्रों का जायजा लिया। उलमा की अपील घरों में अदा करे ईद की नमाज

संवाद सूत्र, सरायतरीन : कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण के प्रकोप को देखते हुए इस बार भी उलमा ने ईदुल फितर का त्योहार घर पर रहकर सादगी से मनाने की अपील की है। ईदगाह व मस्जिदों में केवल पांच लोग मास्क व सामाजिक दूरी का पालन करते हुए नमाज अदा कर करें। उलमा ने कोरोना की दूसरी लहर के प्रभाव को कम करने के लिए इस बार फोन पर मुबारकबाद और घरों में ईद की नमाज अदा करने का ऐलान किया है। साथ ही लाकडाउन और शासन-प्रशासन से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की है।

गुरूवार को चांद नजर आया तो ईद उल फितर का त्योहार शुक्रवार को मनाया जाएगा। लेकिन इस बार कोरोना महामारी में खुद के साथ दूसरों को भी महफूज रखना है। ईद का खुतबा पढ़ना नहीं आता, क्या करें?

मु़फ्ती जुनैद कासमी ने बताया कि ईद की नमाज का खुतबा पढ़ना मसनून है। याद न हो और खुतबे की कोई किताब भी न हो तो, पहले खुतबे में सूरह फातिहा और अखलास पढ़ें और दूसरे में दुरूद शरीफ के साथ सूरह ़फलक व सूरह नास में कोई दुआ पढ़ लें। ईद की खुशियों के साथ ही कोरोना से बचाव जरूरी है। शारीरिक दूरी का पालन करते हुए परिवार के साथ ईद मनाएं। उन्होंने कहा कि मुल्क में अमन चैन और कोरोना जैसी बीमारी के खात्मे के लिए भी दुआ करें।

मु़फ्ती जुनैद कासमी, इमाम, शाही जामा मस्जिद सरायतरीन

गरीबों की इमदाद के साथ मनाए ईद

ईद की नमाज घरों में अदा करें। ईद की नमाज से पहले हर मुसलमान को जकात व फितरा देना जरूरी है। इसमें जकात फर्ज है तो फितरा वाजिब। बेशक, ईद रमजान की सनद है लेकिन फितरा सनद पर खुदा की मोहर की मानिद है ताकि गरीब इंसान भी ईद की खुशियों में बराबर शामिल हो सके। इसलिए ईद की नमाज से पहले फितरा व जकात की अदायगी कर देनी चाहिए।

मौलाना सुलेमान अशरफ हमीदी, इमाम, शाही ईदगाह, सम्भल सरकारी गाइड लाइन का करे पालन-

सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ईद की नमाज अदा करें। घरों से बहार नही निकले। जरूरी काम हो तो मास्क लगाकर निकले। लोगो को ईद की मुबारकबाद फोन पर ही दे। नमाज घरों में अदा कर देश से कोरोना खत्मे की दुआ मांगे।

मौलाना मेहर इलाही, ईद गाह इमाम, सरायतरीन ईद पर मुस्तैद रहेगा पुलिस प्रशासन, घरों में रहकर अदा की जाएगी नमाज

जागरण संवाददाता, सम्भल : कोरोना संक्रमण काल में ईद की नमाज घरों में अदा करने के लिए अपील की गई है। ऐसे में ईद के मौके पर पुलिस प्रशासन को भी अलर्ट कर दिया गया है, जिससे लोग घरों में ही रहे और बाहर न निकले।

शुक्रवार को ईद का त्योहार मनाया जाएगा, जिसमें लोगों से घरों में ही रहकर नमाज अदा करने के लिए अपील धर्म गुरु, उलमा, मौलानाओं व प्रतिष्ठित लोगों द्वारा की जा रही है। ऐसे में पुलिस प्रशासन को भी अलर्ट कर दिया गया है। गुरुवार को तहसीलदार करम सिंह चौहान कोतवाली पहुंचे। जहां पर उन्होंने प्रभारी निरीक्षक अपराध कुलदीप सिंह के साथ बैठक की, जिसके बाद उन्होंने थाने में तैनात उप निरीक्षकों व अन्य पुलिस कर्मियों को ईद के मौके पर अलर्ट रहने के निर्देश दिए, जिससे लोग अपने घरों में ही नमाज अदा कर सके। दरअसल, कोरोना क‌र्फ्यू के कारण लोगों के घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी है। संयुक्त रूप से दोनों अधिकारियों ने सभी से अपने अपने क्षेत्र में मुस्तैदी के साथ तैनात रहने के लिए कहा, जिससे कोरोना कफ्र्यू का पालन हो सके। पुलिस ने बंद करायी दुकानें, पालिका ने बाजार व कोतवाली का कराया सैनिटाइजेशन

सम्भल: कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए गुरुवार को नगर पालिका की टीम कोतवाली पहुंची और वहां पर पूरे परिसर का नई स्प्रे मशीन की मदद से सैनिटाइजेशन कराया गया। इसके साथ ही पालिका की ओर से बाजार बंद होने के बाद वहां पर सैनिटाइजर का छिड़काव कराया गया, जिससे दिनभर की भीड़ के बाद वहां पर किसी प्रकार के कोई संक्रमण की संभावना न रहे। उधर प्रशासन की ओर से निर्धारित समय के बाद खुल रही दुकानों को पुलिस ने बंद करा दिया। समय सीमा पूरी होने के बाद पुलिस टीम ने बाजार में गश्त की। इस दौरान बाजार में जो दुकान खुली मिली तो उसे सख्ती के साथ बंद कराया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप