जेएनएन, चन्दौसी: नगर के मुहल्ला हनुमानगढ़ी में घरों के ऊपर से हाईटेंशन लाइन निकल रही है, जिससे यहां के निवासियों पर लगातार खतरा बना हुआ है। इसी हाईटेंशन लाइन की वजह से अब तक कई बार हादसा हो चुका है। लेकिन अभी तक इस समस्या की ओर विभाग ने कोई सख्त कदम नहीं उठाया है। मुहल्लेवासी इसकी शिकायत भी कई बार विभाग व जनप्रतिनिधियों से कर चुके हैं। हैरत की बात यह है कि मुहल्ले में दो घरों के अंदर खंबे लगे हुए हैं, जिन पर बरसात के समय में करंट आता है और कुछ वर्ष पहले हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर एक व्यक्ति की मौत व एक व्यक्ति झुलस भी चुका है। नगर के हनुमानगढ़ी में जब प्लाटिग की गई थी तब प्लाट बेचने वालों ने घर बनने के बाद हाईटेंशन लाइन हट जाने का लोगों को आश्वासन दिया था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। लोगों ने घर तो बना लिए लेकिन विभाग ने हाईटेंशन लाइन हटाने से अपने हाथ पीछे खींच लिए। अब हाइटेंशन लाइन लोगों के जान का खतरा बन गई है। अब तक यहां के अभिजीत, मंजू, रामवेटी समेत कई लोग बरसात से खंभों से उतरने वाले करंट की चपेट में भी आ चुके है। लेकिन हर बार विभाग होने वाले हादसे से पल्ला झाड़ लेता है। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते हनुमानगढ़ी निवासी बबलू जाटव चार वर्ष पूर्व करंट की चपेट में आकर बुरी तरह झुलस चुका है और जिसकी वजह से उसे आज भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। वहीं तेजपाल नामक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है।

चार वर्ष पहले हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर अपना घर बनवा रहे तेजपाल की मौत व बबलू बुरी तरह से झुलस चुका है। विरोध करने पर लाइन हटने का आश्वासन दिया था। उसके बाद भी आज तक हाईटेंशन लाइन को नहीं हटाया गया है।

प्रेमपाल

घर के अंदर खंभा लगा होने पर लाइन में फाल्ट होने पर उनके घर व नलों और टंकियों में करंट उतर आता है। हमारे परिवार में भी एक बच्चा करंट की चपेट में आ चुका है।

सुदमा

घरों में करंट दौड़ने से तेजपाल की मौत हुई थी। जबकि एक व्यक्ति झुलस गया था। काफी दिन तक उसको अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा। आज भी उन लोगों को डर के साये में जीना पड़ रहा है

मंजू

कई बार हाइटेंशन लाइन के चलते हादसे हो चुके है मुहल्ले वाले लगातार बिजली विभाग के अधिकारियों व जन प्रतिनिधि से वर्षो से शिकायत कर रहे हैं। उसके बाद भी घरों के ऊपर गूजर रही लाइन नहीं हटी है।

सुनील कुमार लाइन बहुत पुरानी है पहले इस जगह खेत थे लेकिन लोगों के कम रुपयों के लालच में प्लाट खरीद लिए और अब मकान बना लिए है। उच्चाधिकारियों से बात करके लोगों की समस्या का समाधान कराया जाएगा।

अजय शुक्ला, एसडीओ चन्दौसी

Edited By: Jagran