मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, सम्भल: राष्ट्रीय भ्रष्टाचार दमन परिषद के पदाधिकारियों व कार्यकर्ता की एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें देश से भ्रष्टाचार को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए परिषद की ओर से किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई।

रविवार को राष्ट्रीय दमन परिषद की बैठक आदमपुर रोड स्थित कैम्प कार्यालय पर आयोजित की गई। परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष केके मिश्र ने कहा कि राशन कि राशन वितरण प्रणाली समाप्त करना, किसानों व वृद्धों को पेंशन की व्यवस्था, बेरोजगारों को बिना ब्याज पांच लाख तक ऋण की व्यवस्था व लघु सूक्ष्म उद्यमियों को एक लाख तक का कर्ज माफ कराना परिषद की जन आन्दोलन के रूप में प्रमुख मांगे रही हैं। उन्होंने कहा कि राशन वितरण प्रणाली एक भ्रष्टाचार युक्त व दोष पूर्ण प्रणाली रही है जिसे समाप्त करने के लिए परिषद लम्बे समय से मांग कर रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा करना कि लाभार्थियों को खाते में सब्सिडी उपल्बध करायी जाएगी। यह सराहनीय कदम है। जिलाध्यक्ष बिजेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के इस घोषणा का हम स्वागत करते है। हमारी टीम गांव गांव जाकर जनता जमीनी स्तर पर जनता से सीधा संवाद करेंगी। बैठक में डीपी शर्मा, शाहिद हुसैन, शहनवाज सम्भली, शकीलुर्रहमान मलिक, वैध सत्यप्रकाश रस्तोगी, होराम सिंह यादव, तेजपाल सिंह, सोनू यादव, रामराज भंडूला, मोहम्मद अली, संदीप खुराना, सत्यपाल सिंह, हरिकिशन अग्रवाल, अंकुर गोयल, हाजी बब्बू, आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप