सम्भल: रमजान माह में बिजली व्यवस्था चरमरा गई है। कई घंटे की बिजली कटौती की जा रही है। जिससे रोजेदार है। रात को अंधेरे में लोगों को रात गुजरानी पड़ रही है। वहीं शहर के मोहल्ला हल्लू सराय में दो दिन से बिजली गुल है। लोगों गर्मी के साथ ही पानी की किल्लत से जूझ रहे है। शिकायत के बाद भी कोई समाधान नहीं पा रहा है। इस समस्या को लेकर विधायक पुत्र ने भी अधीक्षण अभियंता से मुलाकात की और समस्या का समाधान कराए जाने की मांग उठाई। योगी सरकार भले ही शहर को 24 घंटे व ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली देने के वादे कर रही हो लेकिन यहां इसका पालन होता दिखाई नहीं दे रहा। शासन और प्रशासन के आदेश के बावजूद शहर की बिजली व्यवस्था चरमरा गई है। दिन और रात दिन बिजली की आंख-मिचौली से रोजेदार परेशान है तो लोगों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। शहर में कुल 15 से 16 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। रात को बिजली गुल रहने से लोग बिजली घरों में फोन करते है। अफसर कुछ ही मिनटों में लाइट पहुंचने का आश्वासन देकर फोन काट देते है। इन दिनों गर्मी का आलम यह है कि पंखे में भी लोगों का पसीना नहीं सूखा पा रहे। लोगों के घरों में लगे कूलर व एसी भी बिजली न आने से शोपीस बने हैं। वहीं शहर के मोहल्ला हल्लू सराय में ट्रांसफार्मर में फाल्ट होने से दो दिन से बिजली ठप्प है। लोग पानी की बूंद बूंद के लिए तरस रहे है। शहरवासियों में बिजली विभाग के खिलाफ आक्रोश है। शिकायत के बाद भी समस्या जस की तस बनी है। शुक्रवार को इस मामले में शहर विधायक इकबाल महमूद के पुत्र सुहैल इकबाल ने अधीक्षण अभियंता विजय यादव से मुलाकात कर बिजली व्यवस्था को शीघ्र ठीक कराने की मांग की।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran