-असमोली ब्लाक की नेकपुर न्याय पंचायत में शामिल हैं अभी ये गांव

-लगातार उठा रहे मांग, चुनाव के समय आवाज को देंगे धार

संवाद सूत्र, असमोली: यह कैसे जनप्रतिनिधि और प्रशासन हैं, जो 23 गांव की एक सही समस्या को सुनकर दिक्कत दूर नहीं करा सकते। असमोली ब्लाक क्षेत्र की नेकपुर न्याय पंचायत के 23 गांवों की अमरोहा जिला मुख्यालय से दूरी लगभग 10 किमी है, जबकि उन्हें संभल जिले में शामिल कर रखा है। इसके लिए उन्हें दो गुनी दूरी तय करनी पड़ती है। इस मांग की सुनवाई ना होने पर शनिवार को इन गांवों की एक संयुक्त पंचायत हुई। ग्रामीणों ने विधानसभा चुनाव में प्रमुख दलों के प्रत्याशियों के विरोध का एलान किया।

शनिवार को सम्भल जिले के असमोली ब्लाक क्षेत्र की न्याय पंचायत काफूरपुर में ग्रामीणों ने बैठक का आयोजन किया। करीब 23 गांवों के ग्रामीण मौजूद रहे। ग्रामीणों ने कहा कि वह कई साल से अपने गांवों को सम्भल जिले से काटकर अमरोहा जिले में शामिल करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन सुनने को तैयार नहीं है। ग्रामीणों ने कहा कि गांव से बहजोई मुख्यालय की दूरी अधिक होने के कारण वहां तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। चेतावनी देते हुए कहाकि अगर सम्भल जिले की नेकपुर न्याय पंचायत के 23 गांवों को सम्भल जिले से काटकर अमरोहा जिले में शामिल नहीं किया जाता है तो वह विधानसभा चुनाव में प्रमुख दलों के प्रत्याशियों का विरोध करेंगे। इस मौके पर विजय पाल प्रधान, मेवाराम सिंह, विजयपाल सिंह, राजेश कुमार, कमल सिंह, महेंद्र सिंह, राजपाल सिंह, मुख्तयार सिंह, कपिल कुमार, विजय भान सिंह, बच्चू सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran