रजपुरा: विकास कार्यों में गड़बड़ी करने पर एक वर्ष पहले ग्राम निधि के खाते पर लगी रोक के चलते गांव में विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे में अधिकारियों के निर्देश पर तीन सदस्य समिति का गठन किया गया।

एक वर्ष पहले ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत भीकमपुर जैनी की ग्राम प्रधान पर ग्राम निधि की धनराशि का दुरुपयोग करने की शिकायत ग्रामीणों ने लगाते हुए शिकायत की थी। ग्रामीणों का आरोप था कि था कि 14 लाख रुपये से भी अधिक के विकास कार्यो को फर्जी तरीके से दर्शाया गया है। जबकि गांव में कोई विकास नहीं हुआ है। तत्कालीन जिलाधिकारी के आदेश के बाद पांच सदस्यों समिति का गठन कर जांच करने के निर्देश दिए गए थे। जांच में चार लाख रुपये से भी अधिक की धनराशि का दुरुपयोग पाया गया था। ग्राम निधि के खाते पर रोक लगी होने के चलते गांव में विकास कार्य नहीं हो पा रहे थे। ऐसे में अब तीन सदस्य समिति का गठन किया गया। अब इनकी देखरेख में ही विकास कार्य कराए जाएंगे।

Posted By: Jagran