सम्भल,(अंकित गोस्वामी) । सम्भल से चन्दौसी रोड। दूरी तकरीबन 11 किलोमीटर। इसी के बीच का एक गांव छछैरा। 2800 आबादी और आधे से ज्यादा वोटर। विकास के नाम पर सड़क किनारे गंदगी के ढेर। दोपहर का वक्त था, ऐसे में गाव में सन्नाटा दिखा लेकिन चबूतरा खचाखच भरा था। आपस में चर्चाएं जारी थीं। चर्चा हो रही थी चुनाव को लेकर। किसी को मोदी का विकास पसंद आया तो किसी को अखिलेश का शासन। बसपा के समर्थक भी मिले और कई ने कांग्रेस को भी बेहतर बताया। यानी जुबान पर आने वाली बातें सबके लिए बराबर। कुल मिलाकर वोटरों में चुप्पी दिखी लेकिन जातिवाद पूरी तरह से हावी दिखा।

सड़क किनारे बाइक खड़ी करने के बाद आगे बढ़े तो एक चबूतरे पर ग्रामीण छांव में बैठे आराम कर रहे थे। माहौल सही लगा तो यहीं बैठना मुनासिब समझा। औपचारिक दुआ-सलाम के बाद शुरू हो गई चुनाव पर चर्चा। लोकसभा चुनाव को लेकर गली मुहल्लों से लेकर मुख्य मार्गो पर हर तरफ नेताओं की चर्चाए चल रही है। वैसे तो अभी मतदान के लिए आठ दिन बाकी है और नतीजे 23 मई को सामने आएंगे। लेकिन इस बीच लोग हार जीत का गणित जोड़ रहे है। कुछ लोगों का कहना था कि भाजपा की सरकार में योजनाओं का लाभ मिला तो कुछ ने सवाल उठाए। अपनी परेशानी का जिक्र करते हुए लोगों ने कहा कि सरकार कितनी भी योजनाएं चलाएं लेकिन हमारे गांव में विकास नहीं हुआ। कुछ बोले, मोदी सरकार ने पाकिस्तानियों को मुंह तोड़ जबाव दिया। मतलब लोगों का मिजाज अलग अलग पार्टियों के पक्ष में देखने को मिला।

----------

मोदी की सरकार में किसी योजना का लाभ नहीं मिला। इस बार नई सरकार को चुनेंगे और महागठन्धन को वोट करेंगे। केंद्र सरकार से हमें न तो शौचालय मिला और ना हीं उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिला। गांव की सड़कें भी खराब है।

भारत सिंह, निवासी छछैरा केंद्र सरकार ने महिलाओं को सम्मान दिया। गोवंशीय पशुओं के कटान पर प्रतिबंध लगाया। घर - घर गैस चूल्हे पहुंचे। सरकार ने अच्छा काम किया है। सरकार का काम गांव में दिख रहा है।

चिचेन्द्र सिंह, निवासी छछैरा पहले हमने वोट किया था लेकिन सरकार की योजनाओं का लाभ मिला ही नहीं। इस बार हम अपने वोट को बदलेंगे। हो सकता है कि मेरी समस्याओं का समाधान दूसरी पार्टी कर दे। विकास हो जाए।

हुकुम सिंह युवाओं के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए। हम लोगों को शिक्षा हासिल करने के लिए चन्दौसी, सम्भल में जाना पड़ता है। इस बार हम उसे वोट करेंगे जो स्कूल बनवाएगा। शिक्षा देगा।

मुस्तफा, निवासी छछैरा

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप