कुढ़फतेहगढ़: चन्दौसी तहसील क्षेत्र में बुखार का प्रकोप जारी है। मंगलवार को कुढ़फतेहगढ़ और बनियाठेर थाना क्षेत्र में बुखार के चलते दो लोगों की मौत हो गई। वहीं बहजोई में बुखार से युवक की मौत हो गयी।

गांव पैगारफातपुर निवासी श्यामलाल (70) पुत्र राजाराम की मौत हुई है। परिजनों ने बताया कि श्यामलाल को एक सप्ताह पहले से बुखार आ रहा था। गांव के अलावा चन्दौसी में इलाज कराया लेकिन सुधार नहीं हुआ। इसके चलते मंगलवार को श्यामलाल ने दम तोड़ दिया। ग्रामीणों ने बताया कि यहां पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण बुखार से तप रहे हैं। स्वास्थ विभाग की टीम एक सप्ताह पहले गांव में आकर बुखार पीड़ितों को दवा देकर चली गई। एक दिन दवा देकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अपनी औपचारिकता पूरी कर गांव की तरफ मुड़ कर नहीं देखा। दूसरी बनियाठेर थाना क्षेत्र के गांव अकरौली निवासी हरिशंकर 28 को मंगलवार को सुबह बुखार आया था। परिजनों ने इसे गांव के ही एक डॉक्टर को दिखाया था। देर शाम इसकी हालत बिगड़ गई। परिजन उपचार के लिए ग्रामीण को चन्दौसी लेकर आए। जहां डॉक्टर ने हालत गंभीर देखते हुए मुरादाबाद के लिए भेज दिया। रास्ते में युवक ने दम तोड़ दिया। वहीं गांव का डॉक्टर फरार हो गया है। बलकरनपुर में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम : थाना क्षेत्र के गांव बलकरनपुर में बुखार से दो लोगों की मौत के बाद मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची और कैंप लगा कर बारी-बारी मरीजों का इलाज किया। दवाएं बांटीं। कैंप में 170 मरीजों को दवाई वितरण की। बता दें कि रविवार को गांव में दो लोगों की बुखार से मौत हो गई थी। तथा गांव में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण बुखार से पीड़ित हैं। कैंप में डा. डीके प्रेमी, जिला मलेरिया अधिकारी मनोज शर्मा, कुढ़फतेहगढ़ पीएचसी प्रभारी डा. आदित्य कुमार शीतल, वार्डब्याय आकाशदीप, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी मद्रासी, सत्येंद्र कुमार तथा गांव की आशा मिथलेश, माया देवी शामिल रहीं।

बहजोई: नगर के बम्बा रोड स्थित महाराजा स्कूल के निकट निवासी राजेंद्र नागर का पुत्र बॉबी नागर (17) को बीते दिन तेज बुखार आया था। जिसे उपचार के लिए निजी चिकित्सक के यहां ले गये। रात्रि दो बजे के लगभग बॉबी नागर की मौत हो गयी। सूचना मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक के पिता राजेंद्र ने बताया कि बॉबी की मां का निधन दो-तीन वर्ष पूर्व हो चुका है।

Edited By: Jagran