मादा हिरण पर कुत्तों ने किया हमला, मृत्यु

जेएनएन, सम्भल : कैलादेवी थाना क्षेत्र के गांव ठाटी के जंगल में जंगली कुत्तों ने शनिवार को एक मादा हिरण पर हमला कर दिया। जहां कुछ देर बाद उसकी मृत्यु हो गई। पवांसा ब्लाक क्षेत्र में ठाटी गांव के जंगल में शनिवार की सुबह करीब सात बजे जंगली कुत्तों ने वहां घूम रही एक मादा गर्भवती हिरण पर हमला कर दिया। हमले के दौरान हिरण की चीख व आवाज सुनकर आसपास के खेतों में धान की पौध लगा रहे लोग मौके पर दौड़ पड़े। खेत में काम कर रहे गांव साकिन शोभापुर खालसा निवासी सत्यवीर ने बताया कि चीख सुनकर वह अन्य लोगों के साथ वहां पर पहुंचे और हिरण को बचाने का प्रयास किया, लेकिन कुत्ते हिरण को दौड़ाते हुए मक्का के खेत में ले गए। जहां चारों तरफ से कुत्तों ने हिरण को घेरकर दबोच लिया और उस पर हमला करते हुए गंभीर रूप से घायल कर डाला। ऐसे में जब तक वह मौके पर पहुंचे तब तक कुत्ते हिरण को मार चुके थे। इस पर उन्होंने लाठी डंडे से बमुश्किल कुत्तों को भगाया। साथ ही पवांसा पशु चिकित्सक और वन विभाग को सूचना दी। मौके पर पहुंचे पवांसा पशु चिकित्सक ने मृतक हिरण का पोस्टमार्टम किया। पशु चिकित्सक नीरज गौतम ने बताया कि कुत्तों के हमले से गर्भवती मादा हिरण गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जहां उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जिसका पोस्टमार्टम कर वन विभाग की टीम द्वारा जमीन में गड्ढा खोदकर दबा दिया गया। वन क्षेत्राधिकारी विपिन रायजादा ने बताया कि शनिवार की सुबह कुत्तों के हमले में हिरण के मरने की जानकारी मिली थी। जहां टीम को भेजा गया था और पवांसा पशु चिकित्सक ने हिरण का पोस्टमार्टम किया था। बाद में हिरण के शव को गड्ढा खुदवाकर दफना दिया।

Edited By: Jagran