जेएनएन, सम्भल: 21 सितंबर को सीएम योगी आदित्यनाथ का सम्भल दौरा प्रस्तावित है। प्रशासनिक अफसर तैयारियों में जुटे हैं। इन सबके बीच गुन्नौर से भाजपा विधायक अजीत कुमार उर्फ राजू यादव के धरने के ऐलान ने प्रशासन के माथे पर चिता की लकीरें खींच दी हैं। हालांकि पहले से ही अपनी ही सरकार के प्रशासनिक नुमाइंदों पर सवाल खड़ा करते हुए कई मौकों पर असहज स्थिति लाने वाले विधायक ने इस बार आर या पार की ठानी है। बुधवार को कई सरकारी कर्मचारियों पर बिना पैसे लिए कोई भी काम न करने का आरोप लगाते हुए डीएम को दो पेज का ज्ञापन भी सौंप दिया है। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने जिला मुख्यालय के बड़ा मैदान पर 21 सितंबर से एक दिन पहले ही यानि 20 को धरने का ऐलान किया है।

गुन्नौर के भाजपा विधायक अजीत कुमार उर्फ राजू यादव ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि खनन कारोबारी गलत ढंग से बिना डरे बालू और मिट्टी का अवैध खनन कर रहे हैं। पुलिस भी खनन पर कार्रवाई से बच रही है। वह छोटे किसानों को जरूर प्रताड़ित करती है जो अपने घर के लिए मिट्टी ले जाते हैं। एक बड़े अफसर पर आरोप लगाते हुए कहा है किसानों से अनुसूचित जाति की जमीन खरीदने और बेचने के नाम पर अनुमति प्रदान करने के लिए सुविधा शुल्क मांगा जा रहा है। किसान ऐसा नहीं करते तो उन्हें महीनों तक परेशान किया जाता है। विद्युत विभाग और स्वास्थ्य विभाग में भी भ्रष्टाचार का आरोप

बहजोई: जिले में विद्युत विभाग अपनी मनमानी से कार्य कर रहा है। इस विभाग पर विधायक पहले भी आरोप लगा चुके हैं। उनका कहना था कि उपभोक्ताओं को फर्जी बिल भेजे जा रहे हैं। वहीं, स्वास्थ्य विभाग में भी फर्जी रिपोर्ट बनाने व डाक्टरों के न बैठने पर नाराजगी जताई थी। पहले से ही कई अफसरों के भ्रष्टाचार की शिकायत करते आए हैं। आगे भी करते रहेंगे। जिले के कई लेखपाल व सरकारी कर्मचारी बिना पैसे लिए काम नहीं कर रहे हैं। जिले के एक बड़े अफसर जो भ्रष्टाचार से बाज नहीं आ रहे हैं, जिसके चलते 20 सितंबर को बहजोई के बड़े मैदान पर अपने समर्थकों के साथ शांतिपूर्वक धरना देंगे।

अजीत कुमार उर्फ राजू यादव, विधायक, गुन्नौर

Edited By: Jagran