जेएनएन, बहजोई: बरात में शामिल होने आए कार सवारों पर कुछ लोगों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। कार में चार लोग सवार थे, जिसमें से एक को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस को 15 लोगों के खिलाफ मारपीट करने के मामले में रिपोर्ट के लिए तहरीर दी गई है। साथ ही आरोप लगाया गया है कि पुरानी रंजिश के चलते बेटे की हत्या के मामले में समझौता नहीं करने पर हमला किया गया।

बहजोई कोतवाली क्षेत्र के गांव सिसौना के विजेंद्र सिंह(40) पुत्र होराम सिंह गुरुवार को अपने भतीजे सुनील की बरात में थाना क्षेत्र के गांव कूबरी में पहुंचे थे, जहां सत्यपाल की बेटी ज्योति के साथ सुनील का विवाह हो रहा था। शाम चार बजे विजेंद्र सिंह अपने बेटे अभिषेक और सचिन के अलावा भाई जसपाल के साथ अपने कार में सवार होकर घर वापस लौट रहे थे कि गांव से बाहर निकलते ही एक कार ने उनका रास्ता रोक लिया और कुछ अन्य लोग भी वहां पर आ गए। आरोप है कि इस दौरान उन्हें कार से बाहर खींच लिया और चारों लोगों के साथ जमकर मारपीट की। जिससे विजेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि उनके बेटे सचिन और भाई जसपाल के गंभीर चोटें आई। विजेंद्र सिंह को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। जबकि अन्य तीन को उपचार के लिए भेज दिया। फिलहाल कुल 15 लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करने के लिए तहरीर दी गई है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

-

बेटे की हत्या में समझौता नहीं करने पर अंजाम भुगतने का आरोप

पुलिस को दी गई तहरीर में मृतक के भाई जसपाल ने बताया है कि कुछ दिन पूर्व विजेंद्र सिंह के बेटे शिवम की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसके बाद से कुछ लोग जेल में बंद हैं और उस मामले में समझौते का दबाव बना रहे थे। समझौता नहीं मानने के चलते उन्हें कई बार रास्ते में रोककर जान से मारने की धमकी मिल रही थी और उसी को लेकर उनके साथ मारपीट की गई। -

मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी और सीओ

मारपीट की इस घटना में जैसे ही एक युवक की मौत की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस के आला अधिकारी गांव में पहुंच गए। अपर पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार जायसवाल और चन्दौसी के पुलिस क्षेत्राधिकारी गोपाल सिंह भी गांव पहुंचे, जहां घटना के करीब एक घंटे बाद बहजोई पुलिस का पहुंचना हुआ।

---------------

ग्रामीणों का दावा डीजे बजाने को लेकर हुआ था विवाद

इस घटना के संबंध में जिस प्रकार से मृतक के भाई की ओर से तहरीर दी गई है। ठीक इसके अलग ग्रामीणों के द्वारा इस घटना को डीजे पर हुए विवाद बताया जा रहा है। लोगों का मानना है कि जिस वक्त बराती भोजन कर रहे थे, उसी वक्त करीब 1:30 बजे डीजे पर गाना बजाने को लेकर बराती और गांव के लोगों के बीच विवाद हुआ था, हालांकि इस दौरान कुछ लोगों ने दोनों पक्षों को शांत करा दिया था। लेकिन जैसे ही कार में सवार होकर गांव से जा रहे थे तभी उनका रास्ता रोककर उनके साथ मारपीट की गई।

--------------

कोट- मृतक विजेंद्र सिंह अपने कुछ लोगों के साथ बरात से अपने घर वापस जा रहे थे तभी उनकी कार को रास्ते में रोक लिया और उनके साथ मारपीट की गई। उनके गंभीर चोट आने से मौत हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। घायलों को उपचार के लिए भेजा गया है, तहरीर ली जा रही है। उसके आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।- गोपाल सिंह, सीओ, चन्दौसी।

Edited By: Jagran