जेएनएन, बहजोई (सम्भल) :

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति, सामान्य वर्ग, अन्य पिछड़े वर्ग के अलावा अल्पसंख्यक वर्ग के गरीबों की बेटियों की शादी के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने के संबंध में बैठक हुई। इस दौरान अलग-अलग वर्ग के आवेदनों पर विचार करते हुए उन्हें स्वीकृति प्रदान की गई।

जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित बैठक में शादी अनुदान की स्वीकृति समिति के सचिव व जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेंद्र गौतम ने बताया कि योजना पूर्णता आनलाइन संचालित है। आवेदन पत्रों को संबंधित एसडीएम व खंड विकास अधिकारी कार्यालय में जमा किया गया है। अब उन्हें सत्यापन के बाद डिजिटल लाक करके हार्ड कापी समाज कल्याण विभाग, पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग और अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को उपलब्ध करा दी गई है। आकड़ों के मुताबिक, अब तक अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के 43, सामान्य वर्ग के 11, अन्य पिछड़े वर्ग के 113 और अल्पसंख्यक वर्ग के 211 आवेदन पत्रों की हार्ड कापी प्राप्त हुई। इसके सापेक्ष पीएफएमइस सर्वर की ओर से अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति के 43, सामान्य वर्ग के 11, अन्य पिछड़े वर्ग के 169, अल्पसंख्यक वर्ग के 166 आवेदन पत्रों का जवाब संबंधित विभागों की लागिन आइडी पर प्राप्त हो गया है। परीक्षण करने पर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के 35, सामान्य वर्ग के सात, अन्य पिछड़े वर्ग के 89 और अल्पसंख्यक वर्ग के 139 आवेदक पात्र पाए गए, जिनका अब भुगतान किया जाएगा। सभी पात्र लाभार्थियों को शादी अनुदान की धनराशि का भुगतान सीएफएमएस प्रणाली द्वारा ई-कुबेर के माध्यम से खातों में किया जाएगा। प्रत्येक लाभार्थी को 20 हजार रुपये प्रदान किए जाएंगे। इस दौरान डीएम संजीव रंजन ने समिति की स्वीकृति पर संबंधित प्रस्ताव को अनुमोदित करते हुए इन पर अतिशीघ्र भुगतान और बेहतर क्रियान्वयन के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी उमेश कुमार त्यागी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran