चन्दौसी: महिला अपराध संबंधी मामलों को रोकने के लिए अब रिपोर्ट दर्ज होने के बाद कोर्ट में चल रहे मुकदमों की निगरानी पुलिस भी कर रही है। आरोपितों को जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए जिले के डीएम और एसपी मॉनिटरिग सेल की बैठक कर रहे हैं। पिछले चार साल में दुष्कर्म के जिले में लगभग 150 मुकदमे दर्ज हुए है। जिसमें से 11 मुकदमें इस समय ट्रायल पर चल रहे हैं। जिनकी निगरानी एसपी तो कर ही रहे हैं साथ ही सीओ चन्दौसी के नेतृत्व में टीम गठित कर मुकदमों पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए है।

महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को देखते हुए योगी सरकार ने एंटी रोमियो टीम का गठन किया था। कुछ दिनों तक टीम की कार्रवाई का असर नजर आया, लेकिन पिछले कुछ माह से महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं में इजाफा हो गया। इसी को देखते हुए सरकार ने दुष्कर्म के मुकदमों पर निगरानी करने के आदेश उच्च अधिकारियों को दिए थे। आदेश के बाद सम्भल के एसपी यमुना प्रसाद सतर्क हो गए और उन्होंने सभी मामलों की निगरानी शुरू कर दी। पिछले चार साल में 150 मुकदमें दुष्कर्म के दर्ज हुए है जो इस समय कोर्ट में चल रहे हैं। इसमें से नाबालिग के साथ हुए दुष्कर्म के 11 मामले ट्रायल पर फास्ट कोर्ट में है।

मामलों की निगरानी करने के लिए एसपी ने सीओ पूनम मिश्रा के नेतृत्व में टीम भी गठित कर दी गई है। इसके अलावा वह खुद भी नजर बनाए हुए है। जून माह में मॉनिटरिग सेल की हुई बैठक में डीएम अविनाश कृष्ण सिंह और एसपी यमुना प्रसाद मौजूद रहे थे। जिसमें दोनों अधिकारियों ने न्यायधीश से ऐसे मामलों में जल्द सुनवाई करने का आह्वान किया था।

इनसेट-

गवाहों से संपर्क कर रही पुलिस

जागरण संवाददाता, चन्दौसी: जिले में चल रहे दुष्कर्म के मामलों में जिन लोगों की गवाही होनी है। उनके संपर्क पर लगातार पुलिस बनी हुई है। उन्हें सुरक्षा भरोसा दिलाते हुए पुलिस हर कोर्ट में जाकर गवाही देने का आह्वान कर रही है। जिससे जल्द से जल्द दुष्कर्म जैसी घटना करने वाले आरोपितों को कोर्ट से सजा मिल सके। जिस थाना क्षेत्र की घटना है उस थाना क्षेत्र के इंस्पेक्टर को एसपी ने गवाह से लगातार संपर्क में रहने के निर्देश दिए है। कोट-

पिछले चार पांच सालों में दुष्कर्म के 150 मुकदमें दर्ज हुए है। जिसमें 11 मामले ट्रायल पर है। सभी मुकदमों की निगरानी की जा रही है। गवाहों के भी पुलिस लगातार संपर्क में है। उनसे गवाही देने का आह्वान किया जा रहा है। उन्हें सुरक्षा का पूरा भरोसा दिया गया है। हम चाहते है जिसने भी इस अपराध को किया है उसे कड़ी से कड़ी सजा मिले। इसके लिए मॉनिटरिग सेल की बैठक की जाती है।

यमुना प्रसाद, एसपी सम्भल

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप