सहारनपुर, जेएनएन। शहर की ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को शहर के हर चौराहे पर वाहनों की चेकिग को अभियान चलाया। यह अभियान आरसी या फिर ड्राइविग लाइसेंस चेक करने का नहीं था। अभियान केवल प्रेशर हार्न, हूटर और सायरन लगे वाहनों के खिलाफ था। पुलिस ने ऐसे वाहनों को चिह्नित किया और उनके हूटर, सायरन आदि को उतरवाया। 50 से अधिक वाहनों के चालान भी किए।

प्रदेश सरकार ने कुछ माह पूर्व आदेश जारी किए थे कि चाहे कोई मंत्री हो या फिर विधायक। कोई शहर के बीच में हूटर का प्रयोग नहीं करेगा। अपने वाहन पर अपनी जाति या फिर धर्म का प्रचार भी नहीं करेगा। इसके बावजूद लोग अनदेखी करते रहे। सोमवार को इसी कारण एसएसपी डा. एस चन्नपा के आदेश पर वाहनों पर लगे हूटर और जाति लिखे वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया गया। ट्रैफिक इंस्पेक्टर मनीष शर्मा ने बताया कि उन्होंने सुबह के नौ बजे ही शहर के सभी चौराहों पर पुलिस को लगा दिया था, जिसके बाद वाहनों पर लगे हूटर, प्रेशर हार्न और सायरन को उतरवाया गया। साथ ही जिन वाहनों पर जाति जैसे शब्द लिखे थे। उनके चालान किए गए। ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने बताया कि वाहन चालकों को हिदायत दी गई कि वह लोग जाति लिखे शब्दों को खुद ही हटा लें। यदि दोबारा से जाति लिखे वाहन सड़क पर मिले तो चालान का जुर्माना पांच गुणा कर दिया जाएगा। इसी तरह से सायरन, हूटर और प्रेशर हार्न के शौकीनों को भी हिदायत दी गई है। टीआइ ने बताया कि यह अभियान रोजाना एक सप्ताह तक चलेगा।

Edited By: Jagran