सहारनपुर, जेएनएन। शहर के नंद विहार कॉलोनी में सोमवार रात पैदा हुए नवजात शिशु का सौदा मोहल्ले की ही एक महिला ने चालीस हजार रुपये में कर दिया। इतना ही नहीं मंगलवार शाम बच्चा गायब कर अफवाह फैला दी। कहा कि बच्चे को बंदर उठाकर ले गए। जब मामला पुलिस के पास पहुंचा तो पुलिस की टीम भी जांच पड़ताल में जुट गई। पुलिस ने दस घंटे की मशक्‍कत के बाद बच्‍चे को मोहल्‍ले की एक महिला के पास से बरामद कर लिया। यह महिला नवजात को हरियाणा में रहने वाली अपनी बहन को देने वाली थी। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।
परिवार की खुशियां हुईं काफूर
कोतवाली नगर की नंद विहार कॉलोनी निवासी रविंद्र कुमार जो कि चाय की दुकान पर काम करता है। सोमवार रात उनकी पत्नी बॉबी ने स्वस्थ पुत्र को जन्म दिया। परिवार में खुशी का माहौल था, लेकिन यह खुशी मंगलवार शाम 5:00 बजे उस समय काफूर हो गई, जब घर से नवजात शिशु गायब हो गया। पूरा परिवार सदमे में आ गया। असल में शहर के ही नुमाइश कैंप की रहने वाली एक महिला रेनू धीमान ने बच्चे को नंद विहार की रहने वाली एक अन्‍य महिला रितु को चालीस हजार रुपये की सौदेबाजी के बाद सौंप दिया था।

पुलिस ने दो महिला सहित तीन को किया गिरफ्तार
एसओ कोतवाली नगर वीरेश पाल गिरी ने बताया कि जांच पड़ताल में पता चला कि बचचे को चुराने वाली महिला रेनू ने चालीस हजार रुपये में नवजात का सौदा किया था। रुपये देकर बच्‍चे को लेने वाली महिला रितु नवजात को हरियाणा के करनाल में रह रही अपनी बहन पूजा को देने वाली थी। पूजा चार बेटियों की मां है। बुधवार सुबह बच्चा लेने के लिए पूजा का पति कुलदीप सहारनपुर पहुंचा ही था कि तभी पुलिस ने रितु की गोद से बच्चे को बरामद कर लिया। पुलिस ने इस मामले में कुलदीप, रितु और रेनू को गिरफ्तार कर लिया गया है। बच्चा स्वस्थ है और उसकी मां को सौंप दिया गया। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस