सहारनपुर, जेएनएन। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ व उप्र शिक्षक महासंघ से जुड़े शिक्षक- शिक्षिकाओं ने मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश लेकर अलग-अलग स्थानों पर धरना प्रदर्शन किया तथा मांगें जल्द पूरी करने की मांग की।

उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ के जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर आयोजित धरने को संबोधित करते हुए विधान परिषद सदस्य व संघ उपाध्यक्ष हेम सिंह पुंडीर ने कहा कि शिक्षक संघ ने लंबे संघर्षों के बाद शिक्षकों को प्रबंधतंत्र के उत्पीड़न से सुरक्षित रखने के लिए धारा 21 की व्यवस्था प्रदेश में लागू कराई थी, जिसके तहत किसी भी शिक्षक की सेवा समाप्ति आयोग की संस्तुति के बिना नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने शिक्षकों के सम्मान तथा सेवा सुरक्षा की धारा को समाप्त कर धारा 18 को लागू किया है, जिससे शिक्षकों का प्रबंधतंत्र के माध्यम से शोषण का मार्ग पुन: खुल गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की अनेक मांगें शासन स्तर पर लंबित हैं, जिनको पूरा नहीं किया जा रहा है। यही नहीं स्कूलों में सफाईकर्मी व चौकीदार की नियुक्ति तक पर रोक है, अध्यापकों के रिक्त पद भरे नहीं जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब शिक्षकों के शोषण की तैयार है, जिसे किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस दौरान अनिल शर्मा, डा. सुशील पुंडीर, हरीपाल सिंह, रविन्द्र पंवार, डा.ब्रिजमोहन, डा. सादाराम, विजेश पुंडीर, राजेश्वर, सुषमा राजपूत, इंदूरानी, सुधा शुक्ला, डा. पूजा मलिक, नीलम पुंडीर दीप्ति शर्मा महेन्द्र सैनी सहित बड़ी संख्या में शिक्षक व प्रधानाचार्य मौजूद रहे। उधर, विरोध दिवस पर मांगों को लेकर उप्र शिक्षक संघ ने हकीकत नगर स्थित धरना स्थल पर धरना दिया। वक्ताओं का कहना था कि इस सरकार के कार्यकाल के दौरान बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा निरंतर शिक्षा व शिक्षक विरोधी आदेश जारी किए जा रहे हैं, जो कि शिक्षकों की सेवा शर्तों पर कुठाराघत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डेढ़ लाख से अधिक परिषदीय व व उच्च प्राथमिक विद्यालय है जिसमें से लगभग सवा लाख विद्यालयों में प्रधानाचार्यों के पद समाप्त किए गए है। उन्होंने मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर शिक्षकों की समस्याओं का समाधान कराने की मांग की। इस दौरान मुकेश शर्मा. डा. संजय शर्मा, मोहित राणा, देवी सिंह पंवार, प्रदीप शर्मा, अश्वनी कुमार, वेदप्रकाश, अनंगपाल, दीपिका, नीलम, शैफाली, अंजू कपिल आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस