सहारनपुर, जेएनएन। मंडलायुक्त लोकेश एम ने कहा कि मंडल में राशन प्राप्त करने वाले व्यक्तियों की पात्रता और अपात्रता किस आधार के लिए क्या मानक है। इसकी विस्तृत रिपोर्ट तथ्यों सहित प्रस्तुत करें। उन्होंने निर्देश दिए कि मंडल के कुल राशन कार्ड धारकों के सापेक्ष कितना राशन प्राप्त होता है। इसकी स्थिति से भी अवगत कराना सुनिश्चित करें। कोटे की दुकानों के आवंटन से संबंधित शासनादेश भी प्रस्तुत किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि वन टांगिया तथा वन गुर्जरों का राशन कार्ड बना है और उन्हे राशन मिल रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि दूध में मिलावट करने वाले तथा सिथेटिक दूध बनाने वालों के विरुद्ध एनएसए के तहत कार्यवाही की जाए।

मंडलायुक्त लोकेश एम सर्किट हाउस सभागार में मंडलीय विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिए कि राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत जनपद सहारनपुर में अमरूद की अच्छी गुणवत्ता की प्रजाति तथा मुजफ्फरनगर में केले की इलायची एवं अन्य नयी प्रजाति को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद के आम को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए बागवानी तथा उद्योग विभाग आपसी समन्वय स्थापित कर उचित कार्रवाई करें। चीनी मिलों को चलाने के लिए अधिकारी अपने स्तर से सभी तैयारियां पूरी कर लें, जिससे किसानों को गन्ना पंहुचाने में कोई परेशानी न हो। मंडलायुक्त ने सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा को निर्देश दिए कि जिन बच्चों का विद्यालय में प्रवेश दो साल पूर्व होना था। उनको अब किस कक्षा में प्रवेश दिया है, कक्षा में उतनी क्षमता है या नहीं इसकी जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि अध्यापक समय से विद्यालय में उपस्थित हों। सहकारिता विभाग को निर्देश दिए कि जारी आरसी के क्रम में कितनी धनराशि प्राप्त की गयी इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त सुनील कुमार श्रीवास्तव, मुख्य विकास अधिकारी मुजफ्फरनगर आलोक यादव तथा संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran