सहारनपुर, जेएनएन। सिद्धपीठ श्री शाकंभरी देवी पर लगने वाले शारदीय नवरात्र मेले को लेकर मंडलायुक्त व डीआइजी ने डीएम एसएसपी के साथ शाकंभरी पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। अधिकारियों ने अधीनस्थों को भूरा देव से आगे वाहनों को पूर्णतया प्रतिबंधित रखने और पार्किंग की व्यवस्था भूरा देव से पहले करने के निर्देश दिए। एसएसपी ने सीओ को समूचे सिद्धपीठ परिक्षेत्र को सीसीटीवी कैमरों से कवर कराने के लिए निर्देशित किया।

मेले को लेकर संशय 

लगातार मौसम खराब रहने और घाड़ क्षेत्र की अन्य नदियों के साथ शाकंभरी नदी में बार-बार बाढ़ के हालात बनने के कारण सिद्धपीठ पर लगने वाले शारदीय नवरात्र मेले को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। प्रशासन मेला के सुरक्षित आयोजन को लेकर पिछले करीब दो सप्ताह से मंथन कर रहा है, लेकिन बरसात के चलते मेला लगने की संभावनाएं कम दिखाई दे रही हैं।

शाकंभरी सिद्ध पीठ पहुंचे अधिकारी 

शनिवार को मंडलायुक्त डा. लोकेश एम, डीआइजी सुधीर कुमार सिंह, डीएम अखिलेश सिंह व एसएसपी विपिन ताडा शाकंभरी सिद्ध पीठ पहुंचे। अधिकारियों ने मेला लगाने को लेकर काफी मंत्रणा की लेकिन बाढ़ आने की स्थिति में बचाव का कोई अन्य रास्ता नहीं होने के कारण उन्होंने भूरा देव से आगे सभी प्रकार के वाहनों को शाकंभरी तक प्रतिबंधित करने और भूरादेव से पहले पार्किंग की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए। इसके लिए सड़क के आसपास के खेत मालिकों से बात करने के लिए भी तहसील के अधिकारी को कहा गया। भूरादेव के पास बैरियर लगा रहेगा और मौसम को देखते हुए ही यहां से आगे श्रद्धालुओं को जाने दिया जाएगा।

सायरन को भी चालू करा कर देखा

अधिकारियों ने शाकंभरी में पुलिस चौकी पर लगे सायरन को भी चालू करा कर देखा लेकिन उसकी आवाज भूरा देव तक नहीं आई। इसके लिए पहले से ही वायरलेस की व्यवस्था कोई जारी रखने के निर्देश दिए गए। एसएसपी ने सीओ मुनीष चंद्र को निर्देश दिया कि वह मंदिर के आसपास के साथ ही पूरे परिक्षेत्र को भूरा देव तक सीसी कैमरा से कवर करने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कितने कैमरे चाहिए इसकी सूची तैयार कर उन्हें दें ताकि कैमरों की व्यवस्था की जाए। इस मौके पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रणता ऐश्वर्या, तहसीलदार प्रकाश सिंह व सीओ मुनीश चद्र आदि अधिकारी रहे। अधिकारी जब सिद्धपीठ से वापस लौटे उसके कुछ देर बाद ही फिर से शाकंभरी नदी में पानी आ गया था।

- - - - - 

एनआइसी रूम में बैटरी फटी धमाका

सहारनपुर, जेएनएन। शनिवार की दोपहर करीब एक बजे कलक्ट्रेट स्थित एनआइसी में बैटरी फटने से हुए धमाके से भगदड़ मच गई। जिस कमरे में धमाका हुआ उसमें उस समय चार-पांच कर्मचारी बैठे थे। वह धमाके के बाद दौड़कर बाहर निकल गए। कलक्ट्रेट में सिटी मजिस्ट्रेट आफिस से लगता ही एनआइसी कक्ष है, जिसमें सभी तरह की वीडियो कान्फ्रेंसिंग होती है। इस रूम से लगते हुए बाहरी कक्ष में एक ट्राली पर बैटरे रखे हुए थे। शनिवार की दोपहर करीब एक बजे ट्राली पर रखी एक बैटरी अचानक धमाके के साथ फट गई, जिससे कक्ष में बैठे कर्मचारी घबराकर कक्ष से बाहर आ गए। धमाके की आवाज सुनकर कलक्ट्रेट में मौजूद अन्य लोग भी एनआइसी में पहुंचे तो वहां बैटरी फटने के कारण दुर्गंध फैली थी। एनआइसी प्रभारी जेपी कौशिक ने बताया कि अचानक बैटरी फट गई, इससे किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

Edited By: Praveen Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट