सहारनपुर, जेएनएन। पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर पुलिस लाइन में शहीद स्मारक पर शोक परेड का आयोजन किया गया। डीआइजी ने सभी शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान डीआइजी ने उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में एक साल में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के बारे में बताया। इस दौरान सहारनपुर जिले के सभी पुलिस अधिकारी शहीद स्मारक पर मौजूद रहे।

इस मौके पर डीआइजी प्रीतिदर सिंह ने बताया कि एक सितंबर 2020 से लेकर 31 अगस्त 2021 के दौरान देश के कुल 377 पुलिसकर्मी किसी न किसी स्थान पर शहीद हुए हैं, जिसमें उत्तर प्रदेश के चार पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि विभिन्न मुठभेड़ में उत्तर प्रदेश के एसआइ प्रशांत यादव, सिपाही देवेंद्र सिंह, सिपाही सोनू कुमार, सिपाही हरविद्र सिंह शहीद हुए हैं। इन सभी पुलिसकर्मियों को सहारनपुर पुलिस के सभी अधिकारियों ने श्रद्धाजंलि दी। इस दौरान डीआइजी ने पुलिसकर्मियों को बताया कि 21 अक्टूबर 1959 को सीआरपीएफ के जांबाज सैनिकों की चीनी सैनिकों ने हत्या कर दी थी। स्वचालित हथियार से लैस चीनी टुकड़ी का मात्र 10 सिपाहियों ने मुकाबला किया था। उस समय सीआरपीएफ के पास आधुनिक हथियारों की कमी थी, जिस कारण चीनी सैनिकों ने भारत के 10 सैनिकों को शहीद कर दिया था। उसी समय से पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है। डीआइजी ने सहारनपुर पुलिस का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि उन्हें अपने कर्तव्य से पीछे नहीं हटना चाहिए। पुलिस हमेशा जनता की सेवा के लिए होती है। यदि कोई दुविधा में है तो पुलिस को उसकी मदद करनी चाहिए। इस दौरान एसपी सिटी एवं कार्यवाहक एसएसपी राजेश कुमार, एसपी देहात अतुल कुमार शर्मा, सभी सीओ और कई थाना प्रभारी शहीद स्मारक पर मौजूद रहे।

Edited By: Jagran