सहारनपुर, जेएनएन। जिला निर्वाचन अधिकारी अखिलेश सिंह ने निर्देश दिए कि जिन अधिकारियों को वाहन उपलब्ध कराने के लिए अधिग्रहण आदेश जारी किये गये है। वे अपने विभागीय व अनुबंधित वाहनों को चालकों सहित 21 जनवरी की सुबह 10 बजे तक विकास भवन स्थित यातायात प्रकोष्ठ में अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि निर्धारित तिथि एवं समय के अंतर्गत वाहन प्राप्त न होने की स्थिति में संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध आदर्श निर्वाचन आचार संहिता के अन्तर्गत विधिक कार्यवाही की जायेगी।

ज्ञातव्य है कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए वाहनों के अधिग्रहण आदेश जारी किये गये थे, परंतु संबंधित अधिकारियों द्वारा अभी तक वाहन चालकों को यातायात प्रकोष्ठ, विकास भवन में भेजा नहीं गया है, जिसके परिणाम फलस्वरूप निर्वाचन कार्य बाधित हो रहा है। अर्थात संबंधित अधिकारियों द्वारा निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण कार्य के लिए भी उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना की जा रही है।

धर्मिक आजादी के हनन का आरोप

सहारनपुर : रविदासिया जाग्रति मंच की कार्यालय पर आयोजित बैठक में समाज के लोगों की धार्मिक आजादी का हनन करने के आरोप लगाए गए। मंच अध्यक्ष कृष्ण रविदासिया ने कहा कि रविदासिया, समाज के महापुरुषों की शोभा यात्राओं को रोककर रविदासिया समाज की धार्मिक आजादी का हनन किया जाता रहा है। इसको लेकर समाज में भारी रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा रविदासिया समाज ने संकल्प लिया है कि जो भी दल धार्मिक आजादी दिलाने का कार्य करेगा आगामी चुनाव में उसका समर्थन किया जायेगा। इस दौरान जितेन्द्र रविदासिया, जोनी, कपिल, संयोगिता, हर्षित, शुभम, अनिल कुमार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran