सहारनपुर, जेएनएन। क्षेत्र के ग्राम कलसी में महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, बेटी को सक्षम बनाओ अभियान के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया।

जिला कार्यक्रम अधिकारी आशा त्रिपाठी ने कहा कि प्रदेश सरकार मिशन शक्ति अभियान के तहत महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न कार्यकारी संस्थाओं व पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा जागरूकता लाने के प्रति कृत सकंल्पित है। महिला व बाल विकास विभाग में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी महिलाओं के अन्दर आत्म सुरक्षा व सम्मान की भावना को जागृत करने के लिए कार्य कर रही है। आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन के संबंध में कहा कि क्षेत्र में सर्वे का कार्य करते हुए गर्भवती, धात्री महिलाओं को पौष्टिक भोजन व नवजात शिशुओं का समयबद्ध तरीके से टीकाकरण कराए जाने पर विशेष बल दिया जाना है। इस दौरान पूर्व ग्राम प्रधान नीरज कुमार,मा. शीशपाल सिंह, प्रवीण कौशिक, याचिका चौधरी,आगंनबाड़ी कार्यकत्रियों में दिव्या रानी, बबीता शर्मा,रेखा, संगीता शर्मा, मुकेश, शिमला,पूनम आदि मौजूद रहीं।

अधिकारी घर-घर जाकर देंगे योजनाओं की जानकारी

संवाद सूत्र, नकुड़: आजादी का अमृत महोत्सव व जिला विधिक साक्षरता कार्यक्रम के तहत विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी अभियान चलाकर राजस्व ग्रामों में डोर-टू-डोर जाकर शासन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देंगे।

बुधवार को एसडीएम कार्यालय में में आयोजित बैठक में एसडीएम देवेंद्र पांडेय ने बताया कि विभिन्न विभागों की गठित टीमों द्वारा विशेष रूप से कमजोर वर्ग, अनुसूचित जाति/जनजाति, बच्चों, विधवाओं, दिव्यांगों आदि के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। उक्त योजना से प्रत्येक राजस्व ग्राम को 17 अक्टूबर तक कवर किया जाना है। दूसरे चरण में 18 से 31 अक्टूबर तक जानकारी के साथ पंफ्लेट आदि का वितरण किया जाना है। मौके पर अगर कोई शिकायत प्राप्त होती है तो तहसीलदार नकुड़ को अवगत कराना होगा। एसडीएम ने कहा कि गठित टीम विशेष रूप से यह भी बताएंगे कि यदि कोई निर्धन व्यक्ति आर्थिक अभाव में अपने वाद की पैरवी करने के लिए सक्षम नहीं है तो उन्हें निश्शुल्क कानूनी सहायता भी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सहारनपुर द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए वह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, जिला सिविल न्यायालय सहारनपुर में संपर्क कर सकते हैं। अभियान का तीसरा चरण 1 नवंबर से 14 नवंबर तक प्रस्तावित है। बैठक में तहसीलदार देवेंद्र सिंह, बीडीओ नकुड़ विजय तिवारी, सीएचसी अधीक्षक गंगोह डा. रोहित वालिया, डा. अमन गोपाल, नकुड़, गंगोह व सरसावा के बाल विकास परियोजना अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी व पूर्ति निरीक्षक दीपांकर शर्मा मौजूद रहे।

Edited By: Jagran