सहारनपुर: देवबंद से पकड़े जा रहे आतंकी व उनके मददगारों को लेकर पुलिस विभाग की लापरवाही एक बार फिर उजागर हुई है। रेलवे स्टेशन के बाहर होटल में ठहरे संदिग्ध की सूचना पर हड़कंप मच गया, मगर शनिवार दोपहर सदर बाजार पुलिस के पहुंचने तक संदिग्ध वहां से खिसक लिया। इस बात को लेकर विभाग में हड़कंप मच गया।

शुक्रवार रात को रेलवे स्टेशन के बाहर कहकशां होटल में 45-50 साल के अधेड़ ने रुकने के लिए कमरा लिया। इस बात की भनक खुफिया विभाग को लगी तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में आधी रात को अभिसूचना ¨वग की टीम होटल में पहुंची। वहां रुके युवक से पूछताछ की, लेकिन उसने गोलमोल जवाब दिए। इसके बाद सुबह फिर से पूछताछ करने की बात बोलकर अभिसूचना की टीम लौट आई। शनिवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे सदर बाजार पुलिस को बताया गया कि उक्त संदिग्ध को हिरासत में ले लिया जाए। तुरंत ही सदर बाजार पुलिस होटल कहकशां पहुंच गई। पुलिस ने होटल में पहुंचकर संदिग्ध की बाबत पूछा तो बताया गया कि उक्त युवक सुबह तड़के ही चला गया। एसएसआइ सदर बाजार ज्ञानेंद्र ¨सह ने बताया कि होटल में कोई नहीं मिला।

मस्जिद के बाहर भीख मांगता मिला संदिग्ध तो मचा हड़कंप

शुक्रवार रात पुलिस के होश उस समय फाख्ता हो गए, जब पता चला कि सफेद दाढ़ी वाला एक व्यक्ति रेलवे स्टेशन के निकट मस्जिद के बाहर भीख मांग रहा है। पता लगा तो एसपी सिटी प्रबल प्रताप ¨सह मयफोर्स मौके पर पहुंच गए। संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो पता चला कि हिमाचल के मंडी क्षेत्र का रहने वाला संदिग्ध जन्म से अंधा है। इसके परिवार के अन्य सदस्य भी अंधे हैं। मंडी के लोकल इंस्पेक्टर से भी रात को ही बात कर इसके नाम-पते को तस्दीक कराया तो सभी सही मिले। पूछने पर यह पता चला कि उक्त व्यक्ति को भीख मांगने की आदत है। तस्दीक होने के बाद उसे छोड़ दिया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप