सहारनपुर, जेएनएन। देवबंद में एक सप्ताह के अंदर देवबंद क्षेत्र में हुई दो भाजपा नेताओं की हत्या की गुत्थी सुलझाने के बजाए उलझती जा रही है। क्राइम ब्रांच व पुलिस की 12 टीमें 72 घंटे बाद भी हत्यारोपितों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है। एसएसपी से लेकर पुलिस के आलाधिकारी देवबंद में ही कैंप किए हैं। इसके बाद भी पुलिस की कार्रवाई किसी परिणाम पर नहीं पहुंच सकी है।

भाजपा नेता चौधरी धारा सिंह व यशपाल चौधरी के हत्याकांड में पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें 72 घंटे बाद भी किसी ठोस परिणाम पर नहीं पहुंच सकी है। रोजाना की तरह ही संदिग्धों की गिरफ्तारी और पूछताछ के अलावा पुलिस की जांच का दायरा बस व्यक्तिगत और ठेकेदारी की रंजिश पर ही अटका पड़ा है। मंगलवार को भी पुलिस ने काल डिटेल के आधार पर देवबंद समेत कई स्थानों से संदिग्ध को हिरासत में लेकर कई घंटे पूछताछ की लेकिन पुलिस को जांच में कुछ भी हासिल नहीं हो सका है। सत्ता पक्ष के दो नेताओं की हत्या और ऊपर से सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दोनों हत्याकांड की जानकारी स्वयं लेने उच्च अधिकारी से लेकर निचले स्तर तक पुलिस की शक्लें टेंशन में नजर आ रही है। इसके अलावा डीजीपी ओमप्रकाश द्वारा शाम को रोजाना दोनों हत्याकांड को लेकर अधिकारियों से अपडेट ली जा रही है, जिसके चलते पुलिस अधिकारियों पर हत्याकांड के पर्दाफाश करने का दबाव साफ नजर आ रहे है। डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल द्वारा मृतकों के परिजनों को हत्याकांड का पर्दाफाश करने के लिए 48 घंटे का समय मांगा था। लेकिन समय अवधी पूरी होने पर अब परिजनों व भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी रोष बना हुआ है।

गौरतलब हो कि शनिवार को भाजपा पिछड़ा प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष चौधरी धारा सिंह की बाइक सवार बदमाशों ने रणखंडी फाटक के समीप उस समय गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी जब वह बाइक द्वारा घर से शुगर मिल में ड्यूटी पर जा रहे थे। हत्याकांड के बाद भाजपा नेताओं ने सरकारी अस्पताल में एसएसपी को खरीखोटी सुनाते हुए जमकर हंगामा काटा था। वहीं, भाजपा नेता चौधरी यशपाल सिंह की बीती 9 अक्टूबर को गांव मिगरपुर के पास बाइक सवार हमलावारों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा हत्या कर दी थी।

-----

जांच में नहीं निकला रंजिश का कोई एंगल

भाजपा नेता चौधरी धारा सिंह हत्याकांड में पुलिस ने व्यक्तिगत ठेकेदारी की रंजिश समेत कई बिदुओं पर गंभीरता से जांच की है। लेकिन जांच में किसी भी तरह की रंजिश निकल कर सामने नहीं है है। जिसके बाद से पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीमें अब नए सिरे से जांच में जुटी है। दोनों नेताओं की हत्याकांड का पर्दाफाश करना पुलिस के लिए टेड़ी खीर साबित हो रहा है। इसके बाद से अब क्राइम ब्रांच की टीमों ने जेल में बंद कुछ चर्चित बदमाशों से पूछताछ आरंभ कर दी है। इन्होंने कहा-------

चौधरी धारा सिंह हत्याकांड में कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया है। क्राइम ब्रांच व पुलिस की टीमें लगातार छापामारी में लगी हुई है। जल्द ही दोनों हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

-दिनेश कुमार पी, एसएसपी सहारनपुर।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप