सहारनपुर, जेएनएन। उत्तराखंड के युवक का राजस्थान के मेवात में जबरन मतांतरण कराने के मामले में गुरुवार को बजरंग दल हिदुस्तान के पदाधिकारियों ने शुद्धिकरण कराकर युवक को फिर से हिदू बनाया। इसके बाद युवक को लेकर पदाधिकारी एसपी सिटी के आफिस पहुंचे। जिस मदरसे में युवक को इस्लामी शिक्षा दी गई, उस पर कार्रवाई की मांग की। एसपी सिटी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

उत्तराखंड के रहने वाले नितिन पंत पुत्र स्व. देवेंद्र पंत को बजरंग दल हिदुस्तान के पदाधिकारी निपुण भारद्वाज आदि एसपी सिटी राजेश कुमार के आफिस में लेकर पहुंचे। उन्होंने बताया कि नितिन पंत का राजस्थान के मेवात के गांव पंचगावा के मुस्लिम युवकों ने जबरन मतांतरण कराया था। इसके बाद उसे पहले तो राजस्थान में रखा। बंद कमरे में उसके साथ मारपीट की जाती थी। इसके बाद मुजफ्फरनगर के एक गांव के मदरसे में भेज दिया गया। यहां पर उसे जबरन इस्लाम की शिक्षा दी गई। विरोध किया तो उसे सहारनपुर के मदरसे में भेज दिया। पदाधिकारियों ने मांग की है कि मुजफ्फरनगर और सहारनपुर के इन मदरसों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाए। वहीं, निपुण भारद्वाज ने बताया कि नितिन पंत का शुद्धिकरण करने के बाद उसे वापस हिदू बना दिया गया है। अब उसे उसके गांव भेजा जाएगा। शुद्धिकरण एक मंदिर में की गई। यह था मामला

उत्तराखंड के नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत 2010 में नौकरी की तलाश में राजस्थान के अलवर जिले में गया था। नौकरी नहीं मिली तो उसकी मुलाकात मेवात जिले के गांव पंचगाव के मुस्लिम युवकों से हुई। आरोप है कि इन लोगों ने उसका पिस्टल के बल पर मतांतरण कराया।

------

हिदू संगठन के कुछ लोग मिले थे। उन्होंने जो प्रार्थना पत्र दिया है उस पर जांच के आदेश दे दिए हैं। जल्द ही इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।

- राजेश कुमार, एसपी सिटी।

Edited By: Jagran