सहारनपुर, जेएनएन। नगर निगम के पार्षद द्वारा सफाई सुपरवाइजर से की गई अभद्रता के विरोध में सफाईकर्मियों का सफाई व्यवस्था ठप करो आंदोलन दूसरे दिन भी जारी रहा। निगम प्रशासन के प्रयासों के बावजूद सफाईकर्मी पार्षद की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। विवाद के बाद शुक्रवार को सफाईकर्मियों ने गैराज व निगम कार्यालय में तालाबंदी करने के अलावा सफाई व्यवस्था ठप करते हुए हड़ताल कर दी थी। तमाम सफाईकर्मी यूनियनों के अलावा निगम कर्मचारी यूनियन तक एक मंच पर आ गए थे। सफाई कर्मचारी पार्षद के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने व गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

शनिवार को भी सफाई कर्मचारी कार्य ठप कर हड़ताल पर निगम में मौजूद रहे। निगम प्रशासन से शाम हुई समझौता वार्ता के बाद सफाईकर्मियों ने हड़ताल छठ पूजा के मद्देनजर दो दिन के लिए स्थगित कर दी। नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह का कहना है कि मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई जा चुकी है, कर्मचारियों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। इस दौरान सोनी आजाद रघुबीर चंदेल, बृजमोहन चनालिया, धीरज आजाद, बबलू बौहत, राजकमल गहलौत, एडवोकेट सपना ठाकुर, रोहित पहवाल, लक्ष्मण सिंह, कंवल दास, राजकुमार जौलान, रोमी भगत, विकास चंचल, अनुज बोहत, चेतन चन्याने, सुनील चौधरी आदि मौजूद रहे।

------

नगर आयुक्त का किया घेराव कर्मचारियों के आंदोलन के दौरान नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह जैसे ही निगम कार्यालय पहुंचे तो सफाईकर्मियों ने उनका घेराव किया। नगर आयुक्त द्वारा थाना कुतुबशेर में मामले की रिपोर्ट दर्ज होने तथा आरोपी की तलाश में पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई आदि की स्थिति स्पष्ट करने पर सफाई कर्मचारी नेता आंदोलन समाप्त करने को तैयार हो गए और नगर आयुक्त से कर्मचारियों के बीच जाकर कार्रवाई का आश्वासन देने की मांग की।

लगे कूड़े के ढेर

सफाई कार्यों की हड़ताल के दूसरे दिन शनिवार को भी कूड़ा उठान नहीं होने से कूड़ा संग्रह केन्द्र गंदगी अटे पड़े रहे। शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर बढ़ना शुरू हो गए। मुख्य मार्गों व बाजारों का बुरा हाल है, गली मोहल्लों में गंदगी के कारण निकलना मुश्किल हो रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप