सहारनपुर, जेएनएन। गांव बिलासपुर निवासी महीपाल वत्स का सपना शीघ्र ही पूरा होने जा रहा है। उन्होने अयोध्या में ही 1992 में भव्य राम मंदिर बनने तक अपने केश व दाढ़ी नहीं कटवाने का संकल्प लिया था। महीपाल वत्स राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के घटक सेवा भारती से लंबे समय से जुड़े हैं। इस समय भी वह शामली जिले में इसी संगठन के लिए काम कर रहे हें। 1990 से 1995 तक भाजपा के मंडल महामंत्री रहे तथा हरियाणा में विश्व हिन्दू परिषद के लिए काम किया। राम मंदिर आंदोलन में वह जेल भी गए तथा राम कार सेवा समिति के आह्वान पर दो बार कार सेवा में भी शामिल रहे। उन्होने 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में ही भव्य राम मंदिर का निर्माण होने तक आने सिर के बाल व दाढ़ी न बनवाने का संकल्प लिया था। 5 अगस्त को राम मंदिर के शिलान्यास को लेकर वह बहुत खुश है तथा कहते है कि मंदिर निर्माण होने व रामलला के विराजमान होने पर ही वह अपने बाल कटाएंगे। वर्तमान में उनका भतीजा अश्वनी वत्स भी भाजपा से जुड़ कर कार्य कर रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप